close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लिवर ट्रांसप्‍लांट कराने इराक से आए थे नोएडा, बदमाशों ने फर्जी पुलिस बनकर लूटे लाखों

सूचना पाकर मौके पर पंहुची पुलिस ने बताया कि पीड़ित की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है. लूटेरों की तलाशी की जा रही है. वहीं जेपी अस्पताल में लगे सीसीटीवी फुटेज अपने कब्जे में लेकर पुलिस जांच कर रही है.

लिवर ट्रांसप्‍लांट कराने इराक से आए थे नोएडा, बदमाशों ने फर्जी पुलिस बनकर लूटे लाखों
नोएडा में फर्जी पुलिसकर्मी बनकर लुटेरों ने विदेशियों को लूटा. फाइल फोटो

नोएडा : दिल्ली से सटे नोएडा के थाना एक्सप्रेस-वे क्षेत्र के सेक्टर 128 में स्थित जेपी हॉस्पिटल में बुधवार की शाम लिवर ट्रांसप्लांट कराने आए इराक के नागरिकों के साथ लूट हो गई. तीन लुटेरे वैगनआर कार से फर्जी पुलिसकर्मी बनकर आए थे. उन्‍होंने चेकिंग के नाम पर विदेशियों पर गांजा तस्करी का आरोप लगाया और उनके पास रखे 30 हजार अमेरिकी डॉलर (करीब 20.61 लाख रुपए) लूटकर फरार हो गए. जब घटना की पाकर पुलिस सन्न रह गई. पुलिस पीड़ितों की शिकायत पर मामला दर्जकर लुटेरों की तलाश में जुट गई है.

तस्‍वीरों में दिख रहे ये दोनों पीड़ित इराक के निवासी फारिश अबी और सादु है. दरअसल ये बुधवार की शाम लगभग 6:30 बजे अपने रिश्‍तेदार का लिवर ट्रांसप्लांट कराने नोएडा के सेक्टर 128 में स्थित जेपी अस्पताल में पंहुचे थे. इनके मरीज रिश्तेदार का जब ट्रीटमेंट अंदर अस्पताल में चल रहा था तब फारिश अबी और उनके साथ आए लिवर डोनेट के लिए सादू जेपी अस्पताल परिसर के बाहर आपस में बातें कर रहे थे.

देखें LIVE TV 

इसी बीच अचानक एक वैगनआर कार में सवार होकर आए तीन युवकों ने अपने आपको पुलिसकर्मी बताते हुए पुलिस का कार्ड दिखाया. फिर उनकी भाषा में पूछा कि आपके पास हशीश (गांजा) है तो उन्होंने मना किया लेकिन कार के अंदर बैठे एक लुटेरे ने इनको अपने पास बुलाया और इनके पास रखे 30 हजार अमेरिकी डॉलर (लगभग 20.61 लाख रुपए) लूटे और धक्का देकर कार में तीनों को बैठकर फरार हो गए.

सूचना पाकर मौके पर पंहुची पुलिस ने बताया कि पीड़ित की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है. लूटेरों की तलाशी की जा रही है. वहीं जेपी अस्पताल में लगे सीसीटीवी फुटेज अपने कब्जे में लेकर पुलिस जांच कर रही है.