क्या देश सेवा में तैनात CRPF जवान रहते हैं ज्यादा तनाव में ? IIM लखनऊ लगाएगा पता

सीआरपीएफ के जवानों के व्यवहार, उनकी मानसिक स्थिति, तनाव आदि पर शोध किया जाएगा. रिसर्च के लिए CRPF ने IIM लखनऊ के साथ करार किया है.

क्या देश सेवा में तैनात CRPF जवान रहते हैं ज्यादा तनाव में ? IIM लखनऊ लगाएगा पता

लखनऊ:  केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (Central reserve police force) के जवान और अधिकारी लंबे समय तक अपनी ड्यूटी की वजह से अपने घर और परिवार से दूर रहते हैं. जवानों के बाहर रहने पर इनकी मनोदशा और व्यवहार पर क्या असर पड़ता है अब इस पर शोध (Research) किया जाएगा. ये रिसर्च भारतीय प्रबंधन  संस्थान (IIM) लखनऊ द्वारा किया जाएगा. रिसर्च के लिए सीआरपीएफ ने IIM लखनऊ के साथ करार किया है.

14 फरवरी से लखनऊ और नई दिल्ली के बीच फिर से दौड़ेगी Tejas Express, इतना किराया हुआ कम

सीआरपीएफ के महानिदेशक (Director General) एपी माहेश्वरी (AP Maheshwari) ने ‘घरेलू सशक्तीकरण’ विषय पर आईआईएम, लखनऊ की अर्चना शुक्ला के साथ शनिवार को एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किया.

 

जवानों के अंदर पैदा हो जाता है तनाव
तनाव के कारण केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के कर्मियों के आत्महत्या (Suicide) करने और उनके पारिवारिक जीवन प्रभावित होने की घटनाएं भी देखने को मिलती रहती हैं. जवान जान जोखिम में डालकर देश की सेवा करते हैं. ऐसे में इनके अंदर तनाव पैदा होता है, जिससे सिर्फ जवान ही नहीं, इनका परिवार भी प्रभावित होता है. इसलिए IIM लखनऊ के साथ मिलकार CRPF जवानों के लिए पायलट प्रोजेक्ट के तहत इस तरह का पहला शोध किया जाएगा.

इस रिसर्च में कुछ रिसर्च एसोसिएट भी हिस्सा बनेंगे. रिसर्च करने के लिए सबसे पहले प्रश्नपत्रों को तैयार किया जाएगा, जिसके आधार पर अध्ययन (Study) किया जाएगा. इस अध्ययन से जो रिपोर्ट आएगी वो सीआरपीएफ (CRPF) के डीजी (DG)को भेजी जाएगी.

अपनी तरह का पहला शोध
सीआरपीएफ में करीब सवा तीन लाख कर्मी हैं. इसके कर्मियों को मुख्य रूप से उग्रवादरोधी, नक्सलरोधी, आतंकवादरोधी अभियानों में लगाया जाता है. कानून व्यवस्था कायम रखने के लिए भी इनको ड्यूटी पर तैनात किया जाता है. ऐसे में कड़ी ड्यूटी के चलते इनके अंदर तनाव पैदा हो जाता है, जिससे न सिर्फ वो बल्कि इसका असर इनके परिवार पर भी देखने को मिलता है. लंबे समय तक तैनाती के चलते जवानों और उनके परिवारों पर पड़ने वाले प्रभाव का किसी बाहरी एजेंसी द्वारा किए जाने वाला ये अपनी तरह का पहला शोध है. 

आत्मनिर्भर UP बनाने के लिए सरकार की अनोखी पहल, स्कूल-कॉलेजों में लगेगी 'हुनर की पाठशाला'

WATCH LIVE TV