मां-बेटी आत्मदाह केस: पीड़ित गुड़िया बोली, 'मां की मौत के जिम्मेदार अमेठी के एक नेता'

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में लोकभवन के सामने आत्मदाह का प्रयास करने वाली मां-बेटी में से मां की मौत इलाज के दौरान लखनऊ में ही हो गई. ऐसे में पीड़ित बेटी गुड़िया की सुरक्षा अब अमेठी पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बन गई है.

मां-बेटी आत्मदाह केस: पीड़ित गुड़िया बोली, 'मां की मौत के जिम्मेदार अमेठी के एक नेता'

अमेठी: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में लोकभवन के सामने आत्मदाह का प्रयास करने वाली मां-बेटी में से मां की मौत इलाज के दौरान लखनऊ में ही हो गई. ऐसे में पीड़ित बेटी गुड़िया की सुरक्षा अब अमेठी पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बन गई है. पुलिस बुधवार देर शाम गुड़िया की मां सूफिया के अंतिम संस्कार के बाद उसे सुल्तानपुर शिफ्ट किया. यहां गुड़िया ने पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए अपनी मां की मौत का जिम्मेदार अमेठी के एक राजनेता को बताया. 

अमेठी पुलिस कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में गुड़िया को इलाज के लिए लेकर देर रात सुल्तानपुर जिला अस्पताल लेकर पहुंची. यहां पहुंचकर गुड़िया ने जमकर हंगामा काटा. उसने अमेठी पुलिस की के काम करने के तरीके पर फिर से सवाल उठाया और कहा कि उसकी मां की मौत के जिम्मेदार अमेठी के एक नेता हैं और पुलिस उनके दबाव में काम कर रही है. 

इसे भी पढ़िए: BJP सांसद ने उठाए UP की कानून व्यवस्था पर सवाल, कहा- पुलिस की लापरवाही से बढ़ा अपराध

सुल्तानपुर जिला अस्पताल में मीडिया से बात करते हुए पीड़ित गुड़िया ने बताया कि हम अपनी मां की मौत का जिम्मेदार अमेठी पुलिस भी है. उसने बताया कि लखनऊ के सिविल अस्पताल में पुलिस ने उसके भाई के साथ पूछताछ के साथ मारपीट भी की गई. गुड़िया ने आरोप लगाया कि मंगलवार रात 8-9 के बीच अमेठी पुलिस अस्पताल पहुंची. उस वक्त मां सूफिया की हालत ठीक नहीं थी फिर भी पुलिस ने बयान की मांग की. बयान देने की हालत न होने की बात कहने पर पुलिस ने भाई से मारपीट की. गुड़िया साफ तौर पर अपनी मां की मौत की वजह अमेठी के कुछ राजनेताओं को ठहरा रही हैं और आरोप लगा रही हैं कि पुलिस उनके दबाव में काम कर रही है.  

WATCH LIVE TV