लखनऊ: कमिश्नर सिस्टम लागू होने के बाद राजधानी में घटा क्राइम रेट, आंकड़े हैं गवाह

वर्ष 2020 के शुरुआत में योगी सरकार ने बड़ा बदलाव करते हुए राजधानी लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नरी व्यवस्था को लागू किया था. इसके बाद एडीजी जोन प्रयागराज सुजीत पांडे को लखनऊ और आईजी जोन मेरठ आलोक सिंह को नोएडा का पहला पुलिस कमिश्नर नियुक्त किया गया.

लखनऊ: कमिश्नर सिस्टम लागू होने के बाद राजधानी में घटा क्राइम रेट, आंकड़े हैं गवाह
लखनऊ के कमिश्नर सुजीत पाण्डेय

लखनऊ: राजधानी को और सुरक्षित  बनाने के लिए यहां कमिश्नर सिस्टम की शुरुआत की गई थी. पुलिस कमिश्नरेट के 6 महीने पूरे होने पर विभाग की ओर से तुलनात्मक क्राइम डेटा जारी किया गया है. इस डेटा में 14 जनवरी से 14 जुलाई के बीच हुए अपराध की तुलना 2018 और 2019 से की गई है. आंकड़ों के मुताबिक पुलिस कमिश्नरेट बनने के बाद राजधानी में अपराध में भारी कमी आई.
वर्ष 2020 के शुरुआत में योगी सरकार ने बड़ा बदलाव करते हुए राजधानी लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नरी व्यवस्था को लागू किया था. इसके बाद एडीजी जोन प्रयागराज सुजीत पांडे को लखनऊ और आईजी जोन मेरठ आलोक सिंह को नोएडा का पहला पुलिस कमिश्नर नियुक्त किया गया.

इसे भी पढ़िए: कानपुर हत्याकांड: 12 दिन बाद लौटा राहुल तिवारी, जिसकी रिपोर्ट पर बिकरू दबिश देने गई थी पुलिस 

राजधानी में घट गए अपराध 
पुलिस कमिश्नरेट के मुताबिक कमिश्नरी सिस्टम के अंडर डकैती में 75 फीसदी, लूट में 56 फीसदी, हत्या में 35 फीसदी और रेप की घटनाओं में 34 फ़ीसदी की कमी आई है. इसके अलावा अब तक 45 माफियाओं को चिन्हित किया गया और  गैंगस्टर एक्ट के एक आरोपी की संपत्ति भी ज़ब्त की गई.

WATCH LIVE TV