close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अब कांशीराम के नक्शे कदम पर चली BSP, लिया ये बड़ा फैसला

बैठक में यूपी उपचुनाव 2019 के नतीजों से सीख लेते हुए 2022 के चुनाव की अभी से तैयारी के निर्देश दिए गए हैं. इसके साथ ही जलालपुर विधानसभा सीट पर हार के कारणों की रिपोर्ट देने को कहा गया है. 

अब कांशीराम के नक्शे कदम पर चली BSP, लिया ये बड़ा फैसला
बसपा सुप्रीमो मायावती की फाइल फोटो.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में बुधवार (6 नवंबर) को बहुजन समाज पार्टी (BSP) की मुखिया मायावती (Mayawati) ने बैठक की. इस बैठक में कई अहम फैसले लिए गए. बीएसपी ने संगठन में बड़ा बदलाव करते हुए पार्टी ने मंडल और जोन व्यवस्था को खत्म कर दिया है. पार्टी ने सेक्टर व्यवस्था लागू कर यूपी को 4 सेक्टर में बांटा है. इसके साथ ही मायावती ने कोऑर्डिनेटर का पद को भी खत्म कर दिया है. 

बसपा सुप्रीमो ने कांशीराम के फार्मूले पर बसपा की नई व्यवस्था आज (6 नंवबर) लखनऊ में की गई बैठक में लागू कर दी गई है. इस नई व्यवस्था में मंडलीय और जोनल व्यवस्था ख़त्म करके
सेक्टर व्यवस्था लागू कर दिया गया है. यूपी के कुल 18 मंडल को यूपी में 4 सेक्टर में बांटा गया है. 

बसपा की बैठक में बूथ और सेक्टर कमेटियों को सक्रिय करने के निर्देश दिए गए हैं. बैठक में यूपी उपचुनाव 2019 के नतीजों से सीख लेते हुए 2022 के चुनाव की अभी से तैयारी के निर्देश दिए गए हैं. इसके साथ ही जलालपुर विधानसभा सीट पर हार के कारणों की रिपोर्ट देने को कहा गया है. 

ऐसे बांटे सेक्टर
पहला सेक्टर
- लखनऊ
- बरेली
- मुरादाबाद
- सहारनपुर
- मेरठ

दूसरा सेक्टर
- आगरा
- अलीगढ़
- कानपूर
- चित्रकूट
- झांसी

तीसरा सेक्टर
- इलाहबाद
- मिर्जापुर
- फैज़ाबाद
- देवीपाटन

चौथा सेक्टर
- वाराणसी
- आजमगढ़
- गोरखपुर
- बस्ती

ऐसे में कहा जा सकता है कि यूपी में अब बीएसपी इस बड़े बदलाव के साथ 2022 के विधानसभा में चुनाव में उतरेगी.