प्रदूषण झेल रहे लखनऊ में डिफेंस एक्सपो के लिए 63000 पेड़ों की होगी कटाई

लखनऊ में अगले साल पांच से आठ फरवरी के बीच 11वें डिफेंस एक्सपो इंडिया-2020 का आयोजन होगा.

प्रदूषण झेल रहे लखनऊ में डिफेंस एक्सपो के लिए 63000 पेड़ों की होगी कटाई
डिफेंस एक्सपो के आयोजन को ध्यान में रखते हुए 15 जनवरी तक गोमती तट को सेना के हवाले करने का निर्णय किया गया है.(फाइल फोटो)

लखनऊ: लखनऊ में अगले साल होने वाले डिफेंस एक्सपो 2020 (Defence Expo 2020) के लिए गोमती नदी (Gomti River) के किनारे लगे 63 हजार पेड़ों को हटाने (काटने) की योजना बनाई जा रही है. बताया जा रहा है कि गोमती नदी के किनारे हनुमान सेतु से निशातगंज तक करीब 63 हजार पेड़ो को हटाने की तैयारी की जा रही है. प्राप्त जानकारी के अनुसार, लखनऊ नगर निगम की ओर से इन पेड़ों को हटाने के लिए लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) को पत्र लिखा गया है. पत्र के अनुसार, डिफेंस एक्सपो 2020 को ध्यान में रखते हुए गोमती नदी के किनारे हनुमान सेतु से निशातगंज तक करीब 63 हजार पेड़ो को हटाने का प्रस्ताव भेजा गया है. 

बताया जा रहा है कि डिफेंस एक्सपो 2020 के खत्म होने के बाद गोमती नदी के किनारे फिर से पेड़ लगाए जाएंगे. वहीं, लखनऊ विकास प्राधिकरण (LDA) ने इन पेड़ों को हटाने के लिए और नए पेड़ लगाने के लिए नगर निगम से 59 लाख रुपये की मांग की है. रुपयों की मांग के साथ ही एलडीए ने नगर निगम को सिंचाई और वन विभाग से एनओसी लेने को भी कहा है. गौरतलब है कि अगले साल होने वाले डिफेंस एक्सपो 2020 के दौरान सैन्य उपकरणों (Defence Equipments) के प्रदर्शन किया जाएगा. 

बता दें कि डिफेंस एक्सपो के दौरान भारतीय नौसेना के जहाज गोमती नदी में दिखाई देंगे. सेना के जवान पानी मे अपना कौशल दिखाएंगे. इसी को लेकर नगर निगम ने एलडीए को पेड़ हटाने को कहा है. बताया जा रहा है कि 59 लाख रुपये के भुगतान होने के बाद पेड़ों को हटाए जाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी. गौरतलब है कि डिफेंस एक्सपो के आयोजन को ध्यान में रखते हुए 15 जनवरी तक गोमती तट को सेना के हवाले करने का निर्णय किया गया है. एक्सपो के दौरान गोमती के दोनों तटों पर लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी. बता दें कि लखनऊ में अगले साल पांच से आठ फरवरी के बीच 11वें डिफेंस एक्सपो इंडिया-2020 का आयोजन होगा.

(इनपुट-विनोद मिश्रा)