लखनऊ कमिश्नर सुजीत पांडेय ने संभाला कार्यभार, इन चीजों पर करेंगे सबसे पहले काम

कमिश्नर पांडेय ने कहा कि मुझे जो जिम्मेदारी मिली है, उसका मैं और मेरी पूरी टीम ईमानदारी के साथ उसका पालन करेगी.

लखनऊ कमिश्नर सुजीत पांडेय ने संभाला कार्यभार, इन चीजों पर करेंगे सबसे पहले काम
सुजीत पांडेय ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का धन्यवाद करना चाहता हूं. उन्होंने मुझ पर भरोसा किया.

लखनऊ: उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में पुलिस कमिश्नर के रूप में आईपीएस (IPS) सुजीत पांडेय ने कार्यभार संभाल लिया है. कार्यभार संभालते ही उन्होंने अपनी प्राथमिकताएं बताई हैं. कमिश्नर पांडेय ने कहा कि हमारी कोशिश होगी की राजधानी में क्राइम कम हो. कानून व्यवस्था को और बढ़िया बनाने के लिए हम स्मार्ट पुलिसिंग सिस्टम शुरू करेंगे. हम 24 घंटे जनता की सेवा करेंगे और इसके लिए मुख्यालय में अधिकारी रैंक का अफसर तैनात करेंगे. यूपी पुलिस अब ऑनेस्ट सिस्टम की तरह काम काम करेगी. महिलाओं की सुरक्षा के प्रति हमारा फोकस ज्यादा होगा. साथ ही पूरी टीम जागरूक और ईमानदारी से काम करेगी.

स्मार्ट पुलिस और महिलाओं की सुरक्षा पहली प्राथमिकता
कमिश्नर पांडेय ने कहा कि मुझे जो जिम्मेदारी मिली है, उसका मैं और मेरी पूरी टीम ईमानदारी के साथ उसका पालन करेगी. हमारी प्राथमिकताओं में महिला सुरक्षा और क्राइम रेट को कम करना होगा. महिलाओं पर होने वाले अत्याचार को लेकर हम ज्यादा सेंसटिव होकर काम करेंगे. साथ ही राजधानी की जनता के प्रति ईमानदार होकर काम करेंगे. अपराध को कम करने के लिए अपराधियों पर जितनी कठोर कार्रवाई की जा सकती है, हम करेंगे. बेहतर पुलिसिंग स्मार्ट पुलिसिंग की सेवाएं हमारी प्राथमिकताओं में शामिल है.

24 घंटे सातों दिन तैनात रहेंगे अधिकारी
सुजीत पांडेय ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का धन्यवाद करना चाहता हूं. उन्होंने मुझ पर भरोसा किया. मेरी टीम पूरी ईमानदारी के साथ काम करेगी. पुलिस को और बेहतर बनाने और स्मार्ट पुलिसिंग करने के लिए हरदम मैं काम करते रहूंगा. महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए नए-नए प्रयास किए जाएंगे. क्राइम कंट्रोल करने के लिए भी कई सख्त कदम उठाए जाएंगे. इसलिए 24 घंटे डीसीपी के ऑफिस खुले रहेंगे. उन्होंने कहा कि पुलिस के काम का यह अंदाज सूबे की जनता हो जरूर पसंद आएगा.

बुधवार तक हो सकता है जोन का गठन
पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू होते ही लखनऊ और नोएडा में थाने से लेकर जोन की व्यवस्था पूरी तरीके से नई होगी. गौरतलब है कि आईपीएस आलोक सिंह ने भी नोएडा कमिश्नर का पदभार संभाल लिया है. डीजीपी ने मंगलवार को नोएडा और लखनऊ के पुलिस कमिश्नरों के साथ मीटिंग की और निर्देश दिए कि वे बुधवार तक अपने अफसरों के कार्यक्षेत्रों का बंटवारा कर दें. अब दोनों जिलों के पुलिस कमिश्नर तय करेंगे कि गठित जोन और परिक्षेत्रों में कितने-कितने थाने होंगे व किस उपायुक्त के साथ कौन अपर पुलिस उपायुक्त और कौन सहायक आयुक्त तैनात होगा?