यूपी जल निगम भर्ती घोटाला: आजम खां को बड़ा झटका, हाई कोर्ट ने खारिज की अग्रिम जमानत

आजम खां के पक्ष के वकीलों ने बात रखी कि अगर खां की न्यायिक हिरासत की बात भी मान ली जाए तो चार्जशीट 24 मई को दाखिल की गई थी. यह उन्हें हिरासत में लिए जाने के 90 दिन बाद है...

यूपी जल निगम भर्ती घोटाला: आजम खां को बड़ा झटका, हाई कोर्ट ने खारिज की अग्रिम जमानत

लखनऊ: रामपुर से सपा सांसद और पूर्व मंत्री आजम खां की मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही हैं. दरअसल, समाजवादी पार्टी के कार्यकाल में जल निगम में 1300 फर्जी भर्ती केस में आजम खां को आरोपी पाया गया था. इसी मामल में खां ने अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी, जिसे हाई कोर्ट ने बीते शुक्रवार खारिज कर दिया है. हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच का कहना है कि 19 नवंबर 2020 को आजम खां पहले से ही बी वॉरन्ट दिया जा चुका है. ऐसे में इस केस में वह पहले ही न्यायिक हिरासत में आ चुके हैं. इसलिए उन्हें अग्रिम जमानत नहीं मिल सकती.

कोरोना में जिन स्टूडेंट्स ने माता-पिता को खोया, उन्हें LU ले रहा गोद, उठाएगा शिक्षा का खर्च भी

दोनों पक्षों ने रखी बात
गौरतलब है कि आजम खां सुनवाई में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये पेश हुए थे और जस्टिस राजीव सिंह की बेंच ने यह आदेश दिया था. आजम खां का पक्ष रखने के लिए SC के सीनियर एडवोकेट कपिल सिब्बल और आइबी सिंह ने बहस की. उनका कहना था कि आजम खां को राजनीतिक के चलते इस केस में गलत फंसाया जा रहा है. लेकिन अर्जी के शुरुआत में ही अपर शासकीय अधिवक्ता संतोष कुमार मिश्रा यह बात रख दी थी कि इस मामले में आजम खां पहले ही न्यायिक हिरासत में लिए जा चुके हैं. 

Vaccine Booster Dose की जरूरत होगी या नहीं? WHO ने दी यह जानकारी

इस संबंध में दाखिल कर सकते हैं अर्जी
आजम खां के पक्ष के वकीलों ने बात रखी कि अगर खां की न्यायिक हिरासत की बात भी मान ली जाए तो चार्जशीट 24 मई को दाखिल की गई थी. यह उन्हें हिरासत में लिए जाने के 90 दिन बाद है. ऐसे में उन्हें डिफॉल्ट बेल मिलनी चाहिए थी. इस पर कोर्ट ने सुनवाई कर कहा कि अगर वह चाहें तो इस संबंध में अर्जी दायर कर सकते हैं.

दो बालिग कर सकते हैं अंतर-धार्मिक विवाह, उनके वैवाहिक जीवन में हस्तक्षेप करना गलत- हाई कोर्ट

मेदांता अस्पताल में हैं आजम खां
गौरतलब है कि आजम खां और उनके बेटे सीतापुर जेल में बंद थे, लेकिन कोरोना से संक्रमित हो गए थे. जिसके बाद 9 मई को तबीयत बिगड़ने पर प्रशासन ने उन्हें और बेटे को लखनऊ के मेदांता हॉस्पिटल में एडमिट कराया था. दोनों ही कोरोना निगेटिव हो गए हैं. लेकिन कुछ और दिक्कतों की वजह से आजम खां का इलाज अभी भी चल रहा है. हांलाकि, अब वह स्वस्थ होने लगे हैं.

WATCH LIVE TV