उत्तर प्रदेश में पोस्ट कोविड मरीजों का मुफ्त होगा इलाज, CM योगी ने दिए निर्देश

पोस्ट कोविड बीमारियों का इलाज करने वाला यूपी देश का पहला राज्य बना है. 

उत्तर प्रदेश में पोस्ट कोविड मरीजों का मुफ्त होगा इलाज,  CM योगी ने दिए निर्देश
CM योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो).

लखनऊ: यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में शनिवार को एक उच्च स्तरीय बैठ हुई. जिसमें सभी सरकारी अस्पतालों में पोस्ट कोरोना मरीजों का मुफ्त इलाज कराने का फैसला किया गया है. सीएम ने कहा है कि जिन कोविड मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई है, लेकिन फिर भी उन्हें इलाज की जरूरत है तो उन्हें उसी तरह की चिकित्सा देखभाल प्रदान की जानी चाहिए, जो कोरोना संक्रमितों को प्रदान की जा रही है. पोस्ट कोविड बीमारियों का इलाज करने वाला यूपी देश का पहला राज्य बना है. 

उन्होंने कहा कि राज्य भर में कई मरीज जो कोविड ​​​​-19 महामारी से उबर चुके हैं, जिन्हें अभी भी समय-समय पर निगरानी और चिकित्सा सहायता की आवश्यकता होती है. संक्रमण मुक्त होने के बाद की देखभाल और उपचार संक्रमण के दौरान जितना ही महत्वपूर्ण है. उनकी स्थिति का सावधानीपूर्वक मूल्यांकन करने और आवश्यक देखभाल के आधार पर, ऐसे रोगियों को एल-1 अस्पताल में आवश्यक ऑक्सीजन की उपलब्धता के साथ एक बिस्तर दिया जाना चाहिए. 

प्रदेश में 88 फीसदी पहुंची रिकवरी रेट 
उन्होंने कहा कि कोविड-19 की रोकथाम के लिए ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति के साथ प्रदेशवासियों के जीवन और जीविका की सुरक्षा हेतु किये जा रहे प्रयासों के संतोषप्रद परिणाम मिल रहे हैं. एग्रेसिव टेस्टिंग की नीति के बाद भी नए केस लगातार कम हो रहे हैं, जबकि स्वस्थ होने वालों की संख्या हर दिन बढ़ती जा रही है. बीते माह 17 अप्रैल को प्रदेश में लगभग 1.70 लाख एक्टिव केस थे, जो 13 दिनों के भीतर बढ़कर 30 अप्रैल को सर्वाधिक 03 लाख 10 हजार तक पहुंच गए थे. सतत प्रयासों का परिणाम है कि आज 15 दिनों के बाद एक बार फिर एक्टिव केस की संख्या घटकर 1.77 लाख रह गई है. अब तक 14,14,259 प्रदेशवासी कोविड की लड़ाई जीत कर आरोग्यता प्राप्त कर चुके हैं. प्रदेश की रिकवरी दर अब 88% तक हो गई है. 

यूपी बना सर्वाधिक टेस्टिंग वाला राज्य
एग्रेसिव टेस्टिंग की नीति के अनुरूप पिछले 24 घंटों में प्रदेश में 02 लाख 56 हजार 755 टेस्ट किए गए, जिसमें 1,12,000 टेस्ट आरटीपीसीआर के माध्यम से हुए. इसी अवधि में 12,547 नए कोविड केस की पुष्टि हुई , जबकि इसी अवधि में 28,404 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए. 4 करोड़ 44 लाख 27 हजार 447 टेस्ट के साथ देश में सर्वाधिक टेस्ट करने वाला राज्य उत्तर प्रदेश ही है. उन्होंने कहा कि लैब की टेस्टिंग क्षमता को बढ़ाये जाने की कार्रवाई तेज की जाए.

प्रदेश में कोविड वैक्सीनेशन का कार्य जारी
कोविड टीकाकरण की प्रक्रिया प्रदेश में सुचारु रूप से चल रही है.  45 वर्ष से अधिक और 18-44 आयु वर्ग के लोगों को कोविड सुरक्षा कवर प्रदान करने में उत्तर प्रदेश प्रथम स्थान पर है. अब तक 1,16,12,525 लोगों ने  पहली डोज और 31,82,072 लोगों ने वैक्सीन की दोनों डोज प्राप्त कर ली है.  इस तरह 01 करोड़ 47 लाख 94 हजार 597 कोविड वैक्सीन एडमिनिस्टर हुए हैं. प्रदेश के 18 जनपदों में 18-44 आयु वर्ग के 49,854 लोगों के कल हुए टीकाकरण के साथ अब तक इस आयु वर्ग के 3,65,835 लोगों ने टीका-कवर प्राप्त कर लिया है. 

यूपी में कोविड केसेज में लगातार कमी आ रही है. साथ ही रिकवर मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो रही है. बीते 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 12,547 नए मामले सामने आए हैं. जबकि 28,404 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं. जो नए मामलों से लगभग 15 हजार ज्यादा हैं. बता दें कि प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या 1,77,643 है. 

WATCH LIVE TV