प्रोबेशनरी PCS अफसरों से बोले CM योगी- सुनहरा भविष्य या जांच-डिमोशन-बर्खास्तगी, चुनना आपको है
X

प्रोबेशनरी PCS अफसरों से बोले CM योगी- सुनहरा भविष्य या जांच-डिमोशन-बर्खास्तगी, चुनना आपको है

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रोबेशनरी पीसीएस अफसरों को एकाकी जीवन व टापू बनने से बचने की सलाह दी. उन्होंने कहा कि ऐसे लोग देश-काल से कट जाते हैं और इनके इर्द-गिर्द की मक्ख्यिां अव्यवस्था फैलाती हैं. इस बीमारी से पहले दिन से बचें.

प्रोबेशनरी PCS अफसरों से बोले CM योगी- सुनहरा भविष्य या जांच-डिमोशन-बर्खास्तगी, चुनना आपको है

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) से चयनित 49 प्रोबेशनरी पीसीएस अफसरों को नियुक्ति पत्र वितरित किए. इस मौके पर उन्होंने भविष्य के इन प्रशासनिक अधिकारियों को आगाह करते हुए कहा कि यदि आपने पहले दिन से ईमानदारी, दक्षता, पारदर्शिता व न्यायप्रियता के साथ काम किया तो सुनहरा भविष्य स्वागत के लिए तैयार है.

जो गलत करेगा तो जांच, डिमोशन व बर्खास्तगी की नौबत आएगी
मुख्यमंत्री ने आगाह करते हुए कि आपने यदि पहले दिन से ध्यान नहीं दिया तो आगे चल कर खुद के लिए समस्या बनने लगोगे. उन्होंने कहा कि जो गलत करेगा, उसका भंडाफोड़ जरूर होगा, फिर जांच, डिमोशन व बर्खास्तगी की नौबत आएगी. लोकभवन में आयोजित इस समारोह में मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि उनकी सरकार में पूरी निष्पक्षता, पारदर्शिता के साथ योग्यता व मेरिट को आधार बनाकर युवाओं का चयन हो रहा है.

2017 से पहले सरकारी नौकरी की प्रक्रिया को कलंकित किया गया
मुख्यमंत्री ने कहा कि 2017 से पहले सरकारी नौकरी की प्रक्रिया को कलंकित कर दिया गया था. भाई-भतीजावाद, जातिवाद व भ्रष्टाचार का बोलबाला था. भर्तियां न्यायालय में जाती थीं, वहां सीबीआई जांच के आदेश दिए जाते थे. तब की भर्तियों की आज भी सीबीआई जांच चल रही है. युवाओं की प्रतिभा से खिलवाड़ किया जाता था. पहले आयोगों में अनिर्णय, अराजकता व अव्यवस्था थी, आज तेजी से चयन पारदर्शी प्रक्रिया का उदाहरण है.

हर एक के साथ न्याय करने की जिम्मेदारी भी आपकी की ही होगी
इसलिए जिस योग्यता, क्षमता व मेरिट के आधार पर आप लोगों का चयन हुआ है, उसी निष्पक्षता और पारदर्शी तरीके से हरेक के साथ न्याय करने की जिम्मेदारी भी आपकी की ही होगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि पीसीएस सेवा को आईएएस की रीढ़ के रूप में देखा जाता है. तहसील व थाने से जुड़ी शिकायतें सर्वाधिक होती हैं. यदि वहां अधिकारी त्वरित निर्णर करें और लोगों को न्याय मिले तो फिर अव्यवस्था की नौबत नहीं आएगी.

गलत कार्यों में संलिप्त होकर बढ़े तो कोई नहीं बचा पाएगा: मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रोबेशनरी पीसीएस अफसरों को एकाकी जीवन व टापू बनने से बचने की सलाह दी. उन्होंने कहा कि ऐसे लोग देश-काल से कट जाते हैं और इनके इर्द-गिर्द की मक्ख्यिां अव्यवस्था फैलाती हैं. इस बीमारी से पहले दिन से बचें. यदि ऐसा करने में सफल रहते हैं तो सुनहरा भविष्य आपके इंतजार में है, लेकिन गलत कार्यों में संलिप्त होकर बढ़े तो कोई नहीं बचा पाएगा. सीएम ने कहा कि साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में 4.5 लाख से अधिक सरकारी नौकरियां दी जा चुकी हैं. एक भी नियुक्ति पर सवाल नहीं है.

WATCH LIVE TV

Trending news