यूपी सरकार का ऐलान, 72 घंटे में किसानों को मिलेंगे गेहूं के दाम, ऑनलाइन होगा भुगतान

कैबिनेट ने गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज के निर्माण के मानक में बदलाव को हरी झंडी दी है. यहां पर अब 10 मंजिल का बीआरडी मेडिकल कॉलेज बनेगा. इससे पहले 16 मंजिल के निर्माण को मंजूरी मिली थी. 

 यूपी सरकार का ऐलान, 72 घंटे में किसानों को मिलेंगे गेहूं के दाम, ऑनलाइन होगा भुगतान

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में शुक्रवार को कैबिनेट की बैठक हुई. लोकभवन में आयोजित बैठक में नई गेहूं नीति, सिनेमा हॉल के लाइसेंस प्रणाली के सरलीकरण समेत 20 महत्वपूर्ण प्रस्तावों पर कैबिनेट ने अपनी मंजूरी दे दी है. गेंहू खरीद के अलावा यूपी कैबिनेट ने कई और फैसले लिए हैं. इनमें उत्तर प्रदेश सीमेंट कॉरपोरेशन के कर्मचारियों को राज्य सरकार के दूसरे विभाग में समायोजित करने का फैसला प्रमुख है.

कैबिनेट में लिया फैसला
बैठक में यूपी की नई गेहूं खरीद नीति को मंजूरी देते हुए ज्यादा से ज्यादा खरीद केंद्र खोलने का निर्णय लिया गया है. प्रदेश में एक अप्रैल से 15 जून तक गेहूं की खरीद होगी. साथ ही यह भी तय किया गया है कि 72 घंटे में किसानों को ऑनलाइन भुगतान किया जाएगा. केंद्र सरकार ने आगामी रबी विपणन वर्ष 2018-19 के लिए गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) 1735 रुपये प्रति क्विं टल तय किया है. इसपर 10 रुपये प्रति क्विंटल उतराई दी जाएगी. गन्ना किसानों पर सरकार ने कहा कि अब राज्य स्तर पर गन्ना किसानों का होगा सम्मान. राज्य स्तर के तीन बेहतर किसानों को प्रशस्ति पत्र देकर मुख्यमंत्री सम्मानित करेंगे. 

सीमेंट कॉरपोरेशन के कर्मचारियों को मिलेगा काम
कैबिनेट की बैठक में यह भी तय किया गया कि बीमा योजना को संस्थागत वित्त विभाग से लेकर राजस्व विभाग को सौंपा जाएगा. वहीं पंडित दीनदयाल आदर्श नगर पंचायत योजना को भी मंजूरी दे दी गई है. कैबिनेट ने उद्योग विभाग से जुड़े प्रस्ताव को मंजूरी दी. उत्तर प्रदेश सीमेंट कॉरपोरेशन के कर्मचारियों को राज्य सरकार के दूसरे विभाग में समायोजित करने का निर्णय लिया गया. सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को पहले ही इस बावत आदेश दिया था. 

कैबिनेट ने गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज के निर्माण के मानक में बदलाव को हरी झंडी दी है. यहां पर अब 10 मंजिल का बीआरडी मेडिकल कॉलेज बनेगा. इससे पहले 16 मंजिल के निर्माण को मंजूरी मिली थी. इसके साथ ही सरकार गंगा नदी के किनारे बिजनौर से बलिया तक 27 जिलों में नदी की दोनों तरफ हरित पट्टी बनाएगी. यह हरित पट्टी एक-एक किलोमीटर की होगी. इसके बाद दूसरे चरण में सहायक नदियों को शामिल किया जाएगा. सरकार इस योजना को स्वयंसेवी संगठनों की मदद से आगे विस्तार देगी. इसमें एक व्यक्ति एक वृक्ष योजना भी शामिल होगी. कैबिनेट ने प्रदेश में आठ रेलवे ओवर ब्रिज निर्माण को भी मंजूरी दी. कुंभ मेले के लिए स्थाई निर्माण के भी निर्देश दिए गए.

(इनपुट आईएएनएस से)