close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राज्यसभा चुनाव : जानें कौन-कौन कहां से और कैसे जीता

राज्यसभा की 33 सीटों पर उम्मीदवार निर्विरोध चुने गए. इनमें बीजेपी के 17 और कांग्रेस के 4 उम्मीदवार शामिल हैं.

राज्यसभा चुनाव : जानें कौन-कौन कहां से और कैसे जीता

नई दिल्ली : 16 राज्यों में राज्यसभा की 58 सीटों पर 23 मार्च, शुक्रवार को वोट डाले गए. इन सीटों में से अधिकांश नेता निर्विरोध चुने गए, जबकि उत्तर प्रदेश, झारखंड और तेलंगाना में वोट डाले गए. यूपी में तो क्रास वोटिंग के कारण मतदान के समय खूब हंगामा भी हुआ. यूपी तेलंगाना में विरोध के चलते कुछ समय के लिए मतगणना रोकनी भी पड़ी. 

33 सीटों पर निर्विरोध चुने गए
अगर प्रदेश के मुताबिक सीटों की बात की जाए तो उत्तर प्रदेश में 10, बिहार और महाराष्ट्र में 6-6, मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल में 5-5, गुजरात और कर्नाटक की 4-4, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, ओडिशा और राजस्थान में 3-3, झारखंड की 2, छत्तीसगढ़, हिमाचल, हरियाणा और उत्तराखंड की 1-1 सीट पर चुनाव 23 मार्च को चुनाव हुआ था. 33 सीटों पर सदस्य निर्विरोध चुने जा चुके हैं. इनका निर्वाचन 15 मार्च को ही हो चुका था. 

प्रकाश जावड़ेकर और रविशंकर प्रसाद निर्विरोध चुने गए
राज्यसभा की 33 सीटों पर उम्मीदवार निर्विरोध चुने गए. इनमें बीजेपी के 17, कांग्रेस के 4, बीजेडी के 3, आरजेडी के 2, टीडीपी के 2, जेडीयू के 2, शिवसेना, एनसीपी और वाईएसआरसी का एक-एक उम्मीदवार शामिल है. बीजेपी की तरफ से रविशंकर प्रसाद (बिहार), धर्मेंद्र प्रधान और थावरचंद गहलोत (मध्य प्रदेश), जेपी नड्डा (हिमाचल), प्रकाश जावड़ेकर (महाराष्ट्र), मनसुखभाई मांडविया और पुरुषोत्तम रूपाला (गुजरात) निर्विरोध चुने जाने वालों में शामिल हैं.

महाराष्ट्र में निर्विरोध चुनाव
महाराष्ट्र में 6 सीटों के लिए निर्विरोध उम्मीदवार चुन लिए गए. इनमें बीजेपी के तीन, शिवसेना के एक, कांग्रेस के एक और नेशनल कांग्रेस पार्टी (NCP)के एक प्रत्याशी निर्विरोध चुने गए.
बीजेपी के तीनों चुने गए उम्मीदवारों में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर, केरल से बीजेपी के नेता वी. मुरलीधर और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे हैं. इनके अलावा कांग्रेस से कुमार केटकर, शिवसेना से अनिल देसाई और NCP से वंदना चह्वाण चुने गए हैं. शिवसेना और NCP ने वर्तमान राज्यसभा सदस्यों को ही दोबारा उच्च सदन भेजा है.

छत्तीसगढ़ में भी क्रॉस वोटिंग
भाजपा की राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडेय छत्तीसगढ़ से राज्यसभा की एकमात्र सीट के लिए हुए चुनाव में जीत गई हैं. बीजेपी प्रत्याशी सरोज पांडे को 90 में से 51 सीटें मिलीं, जबकी यहां बीजेपी के अपने 49 विधायक हैं, जबकि एक निर्दलीय विधायक विमल चोपड़ा का भी उसे समर्थन प्राप्त था. कांग्रेस के लेखराम साहू को 36 वोट मिले. कांग्रेस के कुल 39 विधायक थे, जिनमें से 3 विधायकों ने वोट नहीं डाला. 

राज्यसभा चुनावः यूपी में बीजेपी ने 9 सीटें जीतीं, 1 सीट सपा के खाते में, बीएसपी की हार

केरल से जेडीयू की जीत
केरल से जेडीयू के वीरेंद्र कुमार चुने गए हैं. यहां एक सीट के लिए हुए चुनाव में माकपा नीत एलडीएफ से समर्थन प्राप्त उम्मीदवार वीरेंद्र कुमार को 89 मत मिले जबकि विपक्षी यूडीएफ के उम्मीदवार बी. बाबू प्रसाद को 40 मत मिले. वीरेंद्र कुमार ने बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू नेता नीतीश कुमार के राजग से हाथ मिलाने के विरोध में संसद के उच्च सदन से इस्तीफा दे दिया था. 

प.बंगाल में टीएमसी और कांग्रेस जीती
पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के चारों उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की है. यहां टीएमसी के शुभाशीष को 54, अबीर को 52, शांतनु को 51 तथा नदीमुदल हक को 52 वोट मिले थे. कांग्रेस के अभीषेक मनु सिंघवी के पक्ष में 47 वोट पड़े. सीपीएम के रॉबिन देब की हार हुई. उन्हें सिर्फ 30 वोट मिले.

आंध्र प्रेदश में टीडीपी ने जीत दर्ज की
आंध्र प्रदेश से टीडीपी नेता सीएम रमेश ने राज्यसभा की सीट पर जीत दर्ज की है.

झारखंड में कांग्रेस-बीजेपी को 1-1 सीट
झारखंड में दो सीटों के लिए हुए चुनाव में बीजेपी और कांग्रेस को एक-एक सीट मिली है. बीजेपी के समीर उरांव और कांग्रेस के धीरज साहू ने जीत दर्ज की है. यहां कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि झारखंड विकास मोर्च के विधायक प्रकाश राम ने प्रक्रिया का सही पालन नहीं किया है, इसलिए उनका वोट रद्द कर दिया जाए, लेकिन चुनाव आयोग ने उनकी दलील को स्वीकार नहीं किया.

तेलंगाना में TRS का तीनों सीटों पर कब्जा
तेलंगाना में तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के बी. प्रकाश, जे. संतोष कुमार तथा बी. लिंगैया यादव ने जीत दर्ज की है. 

कर्नाटक में कांग्रेस को 3, BJP को एक सीट
कर्नाटक में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने राज्यसभा की तीन सीटों पर जीत हासिल की जबकि विपक्षी भाजपा के खाते में एक सीट गई. निर्वाचन अधिकारी ने कांग्रेस के डॉ. एल. हनुमनथैया, डॉ. सैयद नासिर हुसैन एवं जीसी चंद्रशेखर और भाजपा के राजीव चंद्रशेखर को निर्वाचित घोषित किया.

हरियाणा में BJP के डीपी वत्स निर्विरोध चुने गए
हरियाणा में राज्यसभा की एकमात्र सीट के लिए भाजपा उम्मीदवार सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल डीपी वत्स निर्विरोध चुने गए क्योंकि किसी अन्य उम्मीदवार ने नामांकन नहीं भरा. सीट पर वर्तमान में कांग्रेस सदस्य शादी लाल बत्रा का कब्जा है जो दो अप्रैल को सेवानिवृत्त हो रहे हैं. हरियाणा में 90 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के 47 विधायक हैं और वत्स आसान से जीत जाते. इनेलोद के 19 सदस्य, कांग्रेस के 17 और बसपा तथा शिअद के एक- एक सदस्य हैं. पांच निर्दलीय हैं. हरियाणा से बीजेपी के राज्यसभा सदस्यों की संख्या अब दो हो गयी है. केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह राज्य से राज्य सभा के दूसरे सदस्य हैं. 

मध्य प्रदेश में अशोक प्रधान और थावर चंद 
मध्य प्रदेश की 5 सीटों में से चार बीजेपी और एक कांग्रेस के खाते में गई है. यहां से बीजेपी के अशोक प्रधान, थावर चंद गहलोत, अजय प्रताप और कैलाश सोनी निर्विरोध चुनकर राज्यसभा पहुंच गए हैं. कांग्रेस के राजमणि पटेल भी उच्च सदन के लिए चुने गए. 

यूपी में बीजेपी ने जीतीं 9 सीट, मायावती को झटका
उत्तर प्रदेश के चुनावों में सबसे ज्यादा घमासान देखने को मिला. देर रात तक घोषित हुए नतीजों में वित्त मंत्री अरुण जेटली, अनिल जैन, जीवीएल नरसिम्हा राव, विजय पाल तोमर, कांता कर्दम, अशोक वाजपेयी, हरनाथ यादव, सकलदीप राजभर और अनिल अग्रवाल ने जीत दर्ज की है. सपा की जया बच्चन को 38 वोट मिले हैं. इन चुनावों मायावती को सबसे बड़ा झटका लगा है. बीएसपी का उम्मीदवार भीमराव अंबेडकर बीजेपी की रणनीति के आगे टिक नहीं पाया और समर्थन होने के बाद भी वह चुनाव हार गया.