close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

यूपी राज्यसभा चुनाव : सपा का अवसरवादी चेहरा फिर बेनकाब हुआ है- योगी आदित्यनाथ

राज्यसभा चुनावों में जीत पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि समाजवादी पार्टी का अवसरवादी चेहरा एकबार फिर उजागर हो गया है. 

यूपी राज्यसभा चुनाव : सपा का अवसरवादी चेहरा फिर बेनकाब हुआ है- योगी आदित्यनाथ
योगी आदित्यानाथ ने सपा-गठबंधन पर कटाक्ष किया है

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के राज्यसभा चुनावों में बीजेपी ने शानदार जीत दर्ज की है. यहां 10 सीटों के लिए हुए चुनावों में बीजेपी ने 9 सीटों पर कब्जा जमा लिया है. सपा की उम्मीदवार जया बच्चन ने भी जीत दर्ज की है. इस जीत पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि समाजवादी पार्टी का अवसरवादी चेहरा एकबार फिर उजागर हो गया है. सपा दूसरों से ले तो सकती है, मगर दे नहीं सकती है. उन्होंने मायावती का नाम लिए बिना कहा कि इस चुनाव में उन लोगों को भी सबक लेना चाहिए जिन्हें ठोकर लगी है. उन्होंने बीएसपी के लिए कहा कि समझदार के लिए इतना ही इशारा काफी है कि खाई में गिरने से पहले जो ठोकर लगी है, उसी से वह संभल जाएं.

केंद्र की ओर से केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल का राज्यसभा चुनावों का पर्यवेक्षक नियुक्त किया था. इस मौके पर उन्होंने कहा कि अन्य दलों का भी बीजेपी के प्रति विश्वास बढ़ रहा है, यह जीत उसी का नतीजा है. 

राज्यसभा चुनावः यूपी में बीजेपी ने 9 सीटें जीतीं, 1 सीट सपा के खाते में, बीएसपी की हार

बीएसपी के आरोप
राज्यसभा चुनाव में मिली करारी हार पर बीएसपी के वरिष्ठ नेता सतीश मिश्रा ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि बीजेपी ने इन चुनावों में ना केवल धनबल का बल्कि सत्ता का भी दुरुपयोग किया है. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने अपने सत्ता के बल पर बसपा और सपा के दो विधायकों को जेल से वोट देने के लिए नहीं आने दिया. उन्होंने कहा कि मुख्तार अंसारी अब से पहले हर चुनाव में जेल से आकर वोट डाला गया था. लेकिन इस बार ऐसा नहीं करने दिया गया. बीएसपी ने आरोप लगाया कि निर्वाचन अधिकारी ने भी जमकर धांधली की है. उन्होंने कहा कि दो अवैध मतों को भी सत्ता पक्ष में वैध करार कर दिया गया. 

राज्यसभा चुनाव : जानें कौन-कौन कहां से और कैसे जीता, जानें यहां...

बीजेपी के विजयी चेहरे
बीजेपी के उम्मीदवार अरुण जेटली, अनिल जैन, जीवीएल नरसिम्हा राव, विजय पाल तोमर, कांता कर्दम, अशोक वाजपेयी, हरनाथ यादव, सकलदीप राजभर और अनिल अग्रवाल ने जीत दर्ज की है. दूसरी वरियता की काउंटिंग ने अनिल अग्रवाल की जीत पर मोहर लगा दी. दूसरी वरीयता में भीमराव अंबेडकर को सिर्फ एक ही वोट मिला.