प्रयागराज: निरंजनी अखाड़े के महंत आशीष गिरी ने की आत्महत्या, सामने आई ये वजह

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि आशीष गिरी बेहद सरल स्वभाव के थे, लेकिन पिछले काफी समय से वह लीवर की बीमारी से पीड़ित होने के कारण परेशान रहते थे.

प्रयागराज: निरंजनी अखाड़े के महंत आशीष गिरी ने की आत्महत्या, सामने आई ये वजह
महंत आशीष गिरी के आत्महत्या की खबर के बाद संतों में शोक की लहर दौड़ पड़ी.

प्रयागराज: प्रयागराज के निरंजनी अखाड़े के महंत आशीष गिरी ने अखाड़े के भीतर कमरे में गोली मारकर आत्महत्या कर ली. निरंजनी अखाड़े के महंत आशीष गिरी की आत्महत्या की खबर सुनकर अखाड़े के साधु संतों सहित प्रशासनिक अमले में भी हड़कंप मच गया. मामले की सूचना पाते ही तुरंत मौके पर एसएसपी डीआईजी सहित कई थानों की फोर्स भी मौके पर पहुंची. निरंजनी अखाड़े के महंत और अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी भी पहुंचे. शुरुआती जानकारी के मुताबिक महंत आशीष गिरी लंबे समय से लीवर की बीमारी से पीड़ित थे. जिससे वह बेहद परेशान रहते थे. माना जा रहा है कि इसी वजह से उन्होंने अपनी सर्विस रिवाल्वर से गोली मारकर आत्महत्या कर ली. 

मौके पर पहुंचे पुलिस के अधिकारियों ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. वहीं, महंत आशीष गिरी के आत्महत्या की खबर के बाद संतों में शोक की लहर दौड़ पड़ी. बता दें कि, महंत आशीष गिरी अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी के शिष्य भी हैं और निरंजनी अखाड़े के ही समक्ष आते भी हैं. मामला निरंजनी अखाड़े के महंत से जुड़ा होने के कारण प्रशासनिक अमले के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंचे. हर कोई महंत की आत्महत्या की खबर से हतप्रभ था. अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि यह बेहद दुख की घड़ी है. आशीष गिरी बेहद सरल स्वभाव के थे, लेकिन पिछले काफी समय से वह लीवर की बीमारी से पीड़ित होने के कारण परेशान रहते थे.