close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महराजगंज: गौशाला में गड़बड़ी के मामले में कार्रवाई, DM सहित 5 अधिकारी निलंबित

गायों की संख्या से कम पाए जानें और वित्तीय अनियमितताओं के चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महराजगंज के जिलाधिकारी समेत पांच अधिकारियों को सस्पेंड करने के निर्देश जारी कर दिए हैं. 

महराजगंज: गौशाला में गड़बड़ी के मामले में कार्रवाई, DM सहित 5 अधिकारी निलंबित
प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ/महराजगंज: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की महत्वाकांक्षी योजना गौ आश्रय केंद्रों को लेकर बड़ी कार्रवाई की है. कई जिलों से लगातार आ रही गोवंश आश्रय केंद्रों में शिथिलता के चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महाराजगंज (Maharajganj) में बड़ा कदम उठाया है. गायों की संख्या से कम पाए जानें और वित्तीय अनियमितताओं के चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महराजगंज के जिलाधिकारी समेत पांच अधिकारियों को सस्पेंड करने के निर्देश जारी कर दिए हैं. 

इन अधिकारियों पर गिरीगाज
- जिलाधिकारी महाराजगंज अमरनाथ उपाध्याय
- तत्कालीन उपजिलाधिकारी निचलौल देवेंद्र कुमार
- वर्तमान उपजिलाधिकारी सत्यम मिश्रा
- मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी निचलौल वीके मौर्य
- मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी महाराजगंज डॉ राजीव उपाध्याय

दरअसल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गौ आश्रय केंद्रों को समुचित रूप से संचालित किए जाने के निर्देश जारी किए हुए हैं, लेकिन महाराजगंज में गोवंश की बड़े पैमाने पर कमी एवं वृहद परिमाण में भूमि को लीज पर दिए जाने के संबंध में बड़ी अनियमितता सामने आई है, जिसमें निराश्रित गोवंश पशुओं की रजिस्टर में अंकित संख्या लगभग 2500 एवं स्थलीय भ्रमण के उपरांत पाई गई संख्या 954 में अत्यधिक अंतर पाया गया है. 

इनकी व्यापक पैमाने में गोवंश की कमी पर जांच समिति ने गंभीर अनियमितता तथा लापरवाही पाई है. वहीं, गौ सदन के लिए 500 एकड़ भूमि का कब्जा वन विभाग से पशुपालन विभाग को दे दिया गया जबकि गौ सदन समिति द्वारा लगभग 328 एकड़ भूमि को निर्धारित समय अवधि के लिए हुंडा पर कृषकों एवं अन्य व्यक्तियों को दिया गया है जो कि विधिक प्रक्रिया के अनुरूप नहीं है  और गौ सदन समिति के अधिकार क्षेत्र के बाहर है.

लाइव टीवी देखें

इन सभी अनियमितताओं पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नाराजगी व्यक्त करते हुए महाराजगंज जिला अधिकारी समेत पांच अधिकारियों को सस्पेंड करने के निर्देश जारी कर दिए है.