मनमुताबि‍क दहेज नहीं मिला तो दे दिया तीन तलाक, दो साल पहले हुई थी शादी

महि‍ला ने अपने पति पर तीन तलाक देने का आरोप लगाया. इतना ही नहीं ससुराल वालों पर जान से मारने का भी आरोप लगाया है.

मनमुताबि‍क दहेज नहीं मिला तो दे दिया तीन तलाक, दो साल पहले हुई थी शादी

महोबा: केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार भले ही तीन तलाक को रोकने के लिए कड़े कानून बनाने का प्रयास कर रही हो, लेकिन बुंदेलखंड में तीन तलाक का मामले थमने का नाम नही ले रहे हैं.  ताजा मामला महोबा जिले का है. यहां पर एक महिला ने अपने पति पर तीन तलाक देने का आरोप लगाया. इतना ही नहीं ससुराल वालों पर जान से मारने का भी आरोप लगाया है. फिलहाल पीड़िता ने न्याय पाने के लिए पुलिस की चौखट पर दस्तक दी है.

मामला शहर कोतवाली क्षेत्र के सुभाष चौकी का है. यहां फरीद अंसारी की शादी बेलाताल कस्‍बे में शादाब अंसारी के साथ दो वर्ष पूर्व हुई थी. अपनी हैसियत के मुताबिक शादाब के पिता अब्दुल जब्बार ने शादी की. दान दहेज भी दिया, लेकिन पीड़िता का आरोप है कि अक्सर उसके ससुरालीजन दहेज की मांग करते. पिता को भला बुरा कहते. हद तो तब हो गई जब उसके पति ने तीन बार तलाक तलाक तलाक बोलकर नाता तोड़ दिया.

पीड़िता का आरोप है उसके पति को ससुराली जनों ने भड़का दिया, जिससे उसने बुरी तरह पिटाई कर गला दबाकर जान से मारने की कोशि‍श की. इसके बाद वह किसी तरह से जान बचाकर भागी. पास में अपनी बहन के घर पहुँची. आरोप है कि उसके पति ने तीन बार तलाक तलाक तलाक बोल हमेशा के लिए नाता तोड़ दिया. अब वह न्याय चाहती है इसलिए पुलिस की चौखट पर आई है, ताकि कानूनी न्याय मिल सके.

एसआई बैजनाथ तिवारी ने बताया कि पीड़िता तहरीर लेकर आई थी जिसमे दहेज उत्पीड़न और तीन तलाक का मामला है जिसकी महिला एसआई को जांच मिली है और मेरे पास भी आई थी. यदि वह जांच नहीं करती तो हम करेंगे.