close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पांचवीं बार भी पैदा हुई बेटी, गुस्से में पत्नी को दे दिया तीन तलाक, घर से निकाला

तीन तलाक और मुस्लिम महिलाओं के उत्पीड़न को रोकने के लिए केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए तीन तलाक के सख्त क़ानून के बाद भी संभल में इस पर रोक नहीं लग पा रही है.

पांचवीं बार भी पैदा हुई बेटी, गुस्से में पत्नी को दे दिया तीन तलाक, घर से निकाला
संभल जनपद में एक महीने के अंदर तीन तलाक दिए जाने का यह सातवां मामला है.

सुनील सिंह/संभल: उत्तर प्रदेश के संभल में 5वीं बार भी बेटी पैदा होने पर एक शख्स ने अपनी बीबी को तीन तलाक (Triple Talaq) दे दिया. पीड़ित महिला ने असमौली थाने में अपने पति के खिलाफ केस दर्ज कराया है. संभल जनपद में एक महीने के अंदर तीन तलाक दिए जाने का यह सातवां मामला है. तीन तलाक क़ानून बनने के बाद यूपी में सबसे अधिक मामले संभल जनपद में सामने आ रहे हैं. संभल में मुस्लिमों के हित के लिए काम करने वाली संस्थाओं ने चिंता जताते हुए तीन तलाक के मामलों को रोकने के लिए पहल करने की बात कही है.
  
तीन तलाक और मुस्लिम महिलाओं के उत्पीड़न को रोकने के लिए केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए तीन तलाक के सख्त क़ानून के बाद भी संभल में इस पर रोक नहीं लग पा रही है. पिछले एक महीने के अंदर संभल जनपद में तीन तलाक के सात केस दर्ज किए गए हैं. सबसे अधिक पांच मामले बनिया ठेर थाना में दर्ज किए गए हैं. ताजा मामला असमौली थाना क्षेत्र में सामने आया है. असमौली में कामिल नाम के शख्स ने 5वीं  बेटी पैदा होने पर अपनी बीबी को तीन तलाक देकर बेटियों समेत घर से निकाल दिया.

पीड़ित महिला ने आरोपी पति के खिलाफ केस दर्ज कराया है. चंदौसी कोतवाली में तनवीर नाम के युवक ने 50 हजार कैश और बुलेट मोटर साइकिल न मिलने पर निकाह के 3 साल पूरे होने से पहले ही तलाक दे दिया. इसी तरह के 5 मामले संभल जनपद की चंदौसी तहसील के बनियाठेर थाने में दर्ज किए गए हैं. संभल में तीन तलाक के मामलों को लेकर चंदौसी शहर के काज़ी मगरूब ने चिंता जताई है. तीन तलाक के कानून की सराहना करते हुए काजी मगरूब ने कहा कि तीन तलाक के मामलों की वजह शिक्षा की कमी है. काजी मगरूब ने कहा कि तीन तलाक के मामलों को लेकर मुस्लिम संस्थाएं फिक्रमंद हैं.