उत्‍तराखंड : नम आंखों से दी गई शहीद जवान विकास गुरुंग को अंतिम विदाई

16 जून को पाकिस्‍तान की गोलीबारी में जम्‍मू-कश्‍मीर के नौशेरा सेक्‍टर में हुए थे शहीद.

उत्‍तराखंड : नम आंखों से दी गई शहीद जवान विकास गुरुंग को अंतिम विदाई
शहीद विकास गुरुंग पंचतत्‍च में विलीन. (फोटो ANI)

ऋषिकेश : पाकिस्‍तान की गोलीबारी में 16 जून को जम्‍मू-कश्‍मीर के नौशेरा सेक्‍टर में शहीद हुए गोरखा रेजीमेंट  2/3 प्‍लाटून के राइफलमैन विकास गुरुंग का अंतिम संस्‍कार सोमवार को ऋषिकेश में कर दिया गया. सोमवार को उनकी अंतिम यात्रा में बड़ी संख्‍या में लोग उमड़े. सेना ने ऋषिकेश के पूर्णानंद घाट पर गुरुंग को सलामी देकर अंतिम विदाई दी. इस दौरान उत्‍तराखंड के मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी मौजूद रहे.

 

शहीद जवान विकास गुरुंग का पार्थिव शरीर रविवार को ही उनके ऋषिकेश स्थित घर पहुंचा था. उनके घर पर पार्थिव शरीर पहुंचने के साथ ही इलाके में पाकिस्‍तान मुर्दाबाद के नारे भी लगाए गए थे. उनका पार्थिव शरीर घर पहुंचने के दौरान बड़ी संख्‍या में लोग मौजूद रहे. बता दें कि ऋषिकेश के श्यामपुर ग्रामीण क्षेत्र के रहने वाले जवान विकास गुरुंग नौशेरा सेक्‍टर में पाकिस्‍तान की गोलीबारी में शहीद हो गए थे. ऋषिकेश में 16 जून को सुबह करीब नौ बजे सेना मुख्यालय से 21 वर्षीय विकास के पिता रमेश गुरंग को उनके शहीद होने की सूचना दी गई थी. विकास के पिता भी पूर्व फौजी हैं और उनका छोटा भाई निरंजन गुरुंग भी गोरखा राइफल में ही सैनिक के पद पर तैनात है.

Martyr Bikas Gurung funeral in rishikesh
शहीद विकास गुरुंग को सैन्‍य सम्‍मान के साथ दी गई अंतिम विदाई. (फोटो ANI)

बता दें कि 16 जून को जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा से लगे हुए राजौरी जिले में सेना के एक गश्ती दल को निशाना बनाकर पाकिस्तानी सैनिकों ने गोलीबारी की थी. इससे पहले सांबा जिले में 13 जून को पाकिस्तानी रेंजर्स की ओर से की गई गोलीबारी में बीएसएफ के चार जवानों की मौत हो गई थी. सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था ‘‘पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा से लगे हुए भारतीय क्षेत्र के 700 मीटर अंदर नौशेरा सेक्टर में भारतीय सेना के नियमित गश्ती करने वाले दल पर बिना उकसावे के निशाना साधकर गोलीबारी की और मोर्टार दागे.” इस गोलीबारी में राइफलमैन विकास गुरुंग गंभीर रूप से घायल हो गए, जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई.