मूर्त‍ियों के पैसे लौटाने पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्‍पणी के मामले में अब मायावती ने दिया ये जवाब

मायावती ने कहा, उन्हें भरोसा है कि कोर्ट से इंसाफ मिलेगा और इसके लिए अदालत में अपना पक्ष पूरी मजबूती के साथ रखा जाएगा.

मूर्त‍ियों के पैसे लौटाने पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्‍पणी के मामले में अब मायावती ने दिया ये जवाब
फोटो : आईएएनएस/रॉयटर्स

लखनऊ: सुप्रीम कोर्ट ने बीएसपी प्रमुख मायावती द्वारा पार्कों में लगवाई गई मूर्त‍ि को लेकर सख्‍त टि‍प्‍पणी की थी. इसके बाद ही इस पर राजनीत‍ि और बयानबाजी तेज हो गई थी. जाह‍िर के मायावती के विरोधियों ने उनके लिए इसे एक बड़ा झटका बताया था. लेक‍िन अब इस बार खुद मायावती का जवाब आया है.

बहुजन समाज पार्टी (BSP) की मुखिया मायावती ने मूर्ति मसले पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) को कटी पतंग नहीं बनने की सलाह दी है. साथ ही मीडिया से भी अदालत की टिप्पणी को तोड़-मरोड़ कर पेश नहीं करने को कहा है. उन्होंने कहा कि उन्हें भरोसा है कि कोर्ट से इंसाफ मिलेगा और इसके लिए अदालत में अपना पक्ष पूरी मजबूती के साथ रखा जाएगा.

मूर्ति मसले पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद भाजपा से और मीडिया में आ रहे बयानों पर प्रतिक्रिया देते हुए मायावती ने ट्वीट किया कि मीडिया कृपया करके सर्वोच्च न्यायालय की टिप्पणी को तोड़-मरोड़ कर पेश न करे.

उन्होंने लिखा, "हमें पूरा भरोसा है कि इस मामले में भी न्यायालय से पूरा इंसाफ मिलेगा. मीडिया व बीजेपी के लोग कटी पतंग ना बनें तो बेहतर है." उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, "सदियों से तिरस्कृत दलित व पिछड़े वर्ग में जन्मे महान संतों, गुरुओं व महापुरुषों के आदर-सम्मान में निर्मित भव्य स्थल, स्मार पार्क आदि उत्तर प्रदेश की नई शान, पहचान व व्यस्त पर्यटन स्थल हैं, जिसके आकर्षण से सरकार को नियमित आय भी होती है."

उल्लेखनीय है कि सर्वोच्च न्यायालय ने शुक्रवार को टिप्पणी करते हुए कहा था कि मायावती लखनऊ और नोएडा में बनाई गई मूर्तियों पर हुए खर्च को सरकार को लौटाएं. हालांकि चीफ जस्‍ट‍िस ने कहा था कि ये उनकी राय है ये फैसला नहीं है.

INPUT: Bhasha