NCERT किताब फर्जीवाड़ा: मेरठ के BJP नेता संजीव गुप्ता और उनके भतीजे सचिन पर केस दर्ज

ये किताबें आर्मी स्कूल में भी पहुंचीं. शक होने पर आर्मी ने अपने स्तर से इसकी जांच कराई, जिसमें पता चला कि ये किताबें मेरठ के परतापुर इलाके में छापी जा रही हैं. आर्मी इंटेलीजेंस ने इसकी सूचना यूपी एसटीएफ और स्थानीय पुलिस को दी.

NCERT किताब फर्जीवाड़ा: मेरठ के BJP नेता संजीव गुप्ता और उनके भतीजे सचिन पर केस दर्ज
गोदाम में छापेमारी के दौरान यूपी एसटीएफ और मेरठ पुलिस के अधिकारी.

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ में NCERT की करोड़ो रुपए की नकली किताबें बरामद होने के मामले में भाजपा नेता संजीव गुप्ता और उनके भतीजे सचिन गुप्ता पर यूपी एसटीएफ ने आजीवन कारावास की धाराओं (420/467/468) में केस दर्ज कर लिया है. संजीव गुप्ता भाजपा के मेरठ महानगर अध्यक्ष हैं. बीते शुक्रवार को पुलिस और एसटीएफ की संयुक्त छापेमारी में भाजपा नेता और उनके भतीजे के ठिकानों से 35 करोड़ रुपए की एनसीईआरटी की नकली किताबें मिली थीं.

मौके पर 6 प्रिंटिंग मशीनें भी जब्त की गईं थी
ये किताबें एक प्रिंटिंग प्रेस में अवैध तरीके से छापी जा रही थीं. पुलिस ने इस कार्रवाई के दौरान 6 प्रिटिंग मशीनें भी जब्त की हैं. पुलिस के मुताबिक मेरठ से इन किताबों की सप्लाई उत्तर प्रदेश के अलावा उत्तराखंड, दिल्ली, हरियाणा, मध्य प्रदेश, राजस्थान में हो रही थी. ये किताबें आर्मी स्कूल में भी पहुंचीं. शक होने पर आर्मी ने अपने स्तर से इसकी जांच कराई, जिसमें पता चला कि ये किताबें मेरठ के परतापुर इलाके में छापी जा रही हैं. आर्मी इंटेलीजेंस ने इसकी सूचना यूपी एसटीएफ और स्थानीय पुलिस को दी.

BJP Meerut Sanjeev Gupta Action

मेरठ में 35 करोड़ की नकली NCERT की किताबें बरामद करने के बाद आरोपी सचिन की तलाश में STF की ताबड़तोड़ रेड

आर्मी इंटेलीजेंस ने दी थी मेरठ पुलिस को इनपुट
मेरठ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) अजय साहनी के अनुसार सुशांत सिटी के रहने वाले सचिन गुप्ता का परतापुर थाना क्षेत्र में गगोल रोड पर किताबों का गोदाम है. इस गोदाम में भाजपा नेता संजीव गुप्ता के भतीजे सचिन गुप्ता अवैध तरीके से राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) की किताबों की छपाई करवाकर कई राज्यों में सप्लाई करते थे. आर्मी इंटेलीजेंस से मिले इनपुट के आधार पर यूपी एसटीएफ और पुलिस टीमों ने संयुक्त रूप से गोदाम पर छापा मारा. किताबों की छपाई में लगे एक दर्जन लोगों को मौके से हिरासत में लिया गया और 35 करोड़ रुपये की एनसीईआरटी की किताबें बरामद की गईं. गोदाम को सील कर दिया गया.

WATCH LIVE TV