लद्दाख के गलवान में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में मेरठ का लाल भी शहीद

मेरठ सिटी के स्थानीय समाजसेवी दुष्यंत रोहटा ने बताया कि गलवान में शहीद बिपुल रॉय की पत्नी 5 वर्षीय बेटी के साथ मेरठ के कुंदन कुंज कॉलोनी में किराए के एक मकान में रहती हैं. 

लद्दाख के गलवान में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में मेरठ का लाल भी शहीद
शहीद बिपुल रॉय

मेरठ: लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हुए हैं. इन शहीदों में उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले का भी एक जवान शामिल है, जिनका नाम बिपुल रॉय है. बिपुल रॉय के सीमा पर शहीद होने की खबर जैसे ही पत्नी को हुई तो घर में कोहराम मच गया. उनके शहादत की खबर से आस-पड़ोस में भी मातम का महौल है.  

उत्तराखंड में आए कोविड-19 के 43 केस, एक्टिव मरीजों की संख्या हुई 717

मेरठ सिटी के स्थानीय समाजसेवी दुष्यंत रोहटा ने बताया कि गलवान में शहीद बिपुल रॉय की पत्नी 5 वर्षीय बेटी के साथ मेरठ के कुंदन कुंज कॉलोनी में किराए के एक मकान में रहती हैं. बिपुल रॉय का पूरा परिवार पश्चिम बंगाल के बिंदी पारा में रहता है. जहां उनका पार्थिव शरीर लाया जाएगा. उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी भी अब पश्चिम बंगाल के लिए रवाना होंगी. फिलहाल उनके मेरठ स्थित घर पर आर्मी अधिकारी, प्रशासनिक अधिकारी और पुलिस अधिकारी पहुंच चुके हैं.

आपको बता दें कि लद्दाख के गलवान घाटी में मंगलवार देर रात भारत और चीनी सैनिकों में झड़प हुई थी. इस झड़प में भारत के 20 सैनिक शहीद हुए हैं, वहीं 43 चीनी सैनिक भी हताहत हुए हैं.

आम्रपाली ग्रुप ऑडिटर की गिरफ्तारी महंगी पड़ी, कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद ED दफ्तर सील

भारत-चीन के बीच हुए इस झड़प को लेकर दावा किया जा रहा है कि 1962 के बाद दोनों सैनिकों के बीच दूसरी सबसे बड़ी झड़प है. इस हिंसक झड़प के बाद से चीन के खिलाफ देशभर में गुस्सा है. इसको लेकर लोग देशभर में प्रदर्शन कर रहे हैं और केंद्र सरकार से चीनी समानों के बहिष्कार की भी मांग कर रहे हैं.

Watch Live TV-