मुजफ्फरनगर: लॉकडाउन में बेवजह घूम रहे लोगों को समझाने गई पुलिस टीम पर हमला, 3 पुलिसकर्मी घायल

मुज़फ्फरनगर में लॉकडाउन के दौरान बेवजह घूम रहे लोगों को समझाने गई पुलिस टीम पर भीड़ ने हमला कर दिया. पथराव में चौकी इंचार्ज समेत 2 सिपाही घायल हैं.  

मुजफ्फरनगर: लॉकडाउन में बेवजह घूम रहे लोगों को समझाने गई पुलिस टीम पर हमला, 3 पुलिसकर्मी घायल

अंकित मित्तल/मुजफ्फरनगर: पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में लॉकडाउन के दौरान बेवजह सड़कों पर घूम रहे लोगों को समझाने गई पुलिस टीम पर हमला हो गया. भीड़ ने पुलिसकर्मियों पर लाठी-डंडों से वार किए और पथराव भी किया. घटना में एक सब इंस्पेक्टर व 2 कॉन्स्टेबल घायल हैं. जिनकी गंभीर हालत को देखते हुए सभी को मेरठ रेफर कर दिया गया है. उधर, घटना की जानकारी लगते ही मौके पर पहुंचे मुजफ्फरनगर एसएसपी ने पहले हॉस्पिटल में पुलिसकर्मियों का स्वास्थ्य जाना और फिर घटना स्थल का मुआयना भी किया. पुलिस ने कुछ हमलावरों को गिरफ्तार किया है, जबकि फरार आरोपियों की तलाश जारी है.

मामला भोपा थाना क्षेत्र के मोरना करहेड़ा मार्ग का है. जहां लॉकडाउन के बावजूद पूर्व प्रधान नारा सिंह के बहार लोगों की भीड़ इकट्ठा होने की सूचना पर चौकी इंचार्ज लेखराज सिंह और 2 कॉन्स्टेबल पहुंचे. इस दौरान उन्होंने भीड़ को अपने-अपने घर जाने की समझाइश दी, लेकिन अचानक दबंगों ने पुलिसकर्मियों पर लाठी-डंडों से हमला बोल दिया. घायल अवस्था में सब इंस्पेक्टर और दोनों कॉन्स्टेबल जैसे-तैसे जान बचाकर भागे. इस दौरान दबंगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया. गंभीर रूप से घायल पुलिसकर्मियों को पास ही में एक खेत में काम कर रहे लोगों ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया.

घटना की सूचना मिलते ही भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचा और आरोपी पूर्व प्रधान नारा सिंह के साथ दो महिलाओं को भी गिरफ्तार कर लिया. जबकि भीड़ में शामिल कुछ आरोपियों की तलाश जारी है. गंभीर हालत के चलते मोरना चौकी इंचार्ज सब इंस्पेक्टर लेखराज सिंह और सिपाही रवि को मुजफ्फरनगर से मेरठ के लिए रेफर कर दिया गया है. 

एसएसपी ने बताया कि पूर्व प्रधान नारा सिंह के साथ-साथ दो दर्जन से ज्यादा लोगों ने पुलिसकर्मियों पर हमला किया. जिसमें महिलाएं भी शामिल थी. आरोपी नारा सिंह के साथ दो महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया है, बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी जल्द ही की जाएगी.

लाइव देखें उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड की खबरें: