close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गरीबी का देते थे झांसा, पैसों की बताते थे किल्लत, जब इंसान कर लेता था भरोसा और फिर...

 मुरादाबाद पुलिस ने एक ऐसे गिरोह को पकड़ा है जो भोले भाले लोगों को ठगी का शिकार बनाते थे. 

गरीबी का देते थे झांसा, पैसों की बताते थे किल्लत, जब इंसान कर लेता था भरोसा और फिर...
.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

मुरादाबाद: मुरादाबाद पुलिस ने रविवार को एक ऐसे गिरोह को पकड़ा है जो भोले भाले लोगों को नकली गहने बेचकर ठगी का शिकार बनाते थे. हाल ही में बीते 22 नवंबर को पुलिस को ऐसे गिरोह का पता तब चला, जब शहर के कटघर थाने में असली गहने दिखाकर लाखों के नकली गहने बेचे जाने की ठगी के सम्बंध में तहरीर दी गई थी. पुलिस के मुताबिक, शहर के बुद्धिविहार के रहने वाले महेंद्र सिंह ने अज्ञात एक महिला और पुरुष द्वारा असली सोना दिखाकर पीतल के जेवरात देकर उनसे की गई लाखों की धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया था.

पीड़ित को पहले जालसाजों ने असली सोना दिखाया था, जिसके बाद सस्ता सोना खरीदने के लालच में उन्होंने तीन लाख रुपये देकर उनसे सोना खरीद लिया. लेकिन जालसाजों ने उन्हें पीतल के गहने दिए और रफूचक्कर हो गए. पुलिस जांच और विवेचना के दौरान तथ्यों के आधार पर रविवार 20 जनवरी को कटघर पुलिस ने घटना के प्रकाश में आए महिला समेत तीन लोगों को थाना कटघर क्षेत्र के करुला की पुलिया के पास से 11:45 बजे गिरफ्तार किया है जिनके पास से भारी मात्रा में पीतल के नकली जेवरात व ठगी के 146000 रुपये बरामद किए गए हैं.

एसपी सिटी अंकित मित्तल ने बताया कि ठगी का शिकार होने वाले व्यक्ति को इन लोगों ने रास्ते में रोककर अपनी गरीबी और पैसे की सख्त जरूरत का हवाला देते हुए अपने सभी गहने तीन लाख में बेचने की मजबूरी बता कर उन्हें जाल में फंसाया और असली गहने दिखाकर नकली पीतल के गहने देकर रफूचक्कर हो गए थे.

गिरफ्तार अभियुक्तों ने पूछताछ के दौरान बताया, "वे अलग-अलग स्थानों पर घूम-घूम कर ऐसे लोगों को ढूंढते थे जो झांसे में जल्दी आ जाएं. हमारे पास एक माला है जिस पर हल्की मात्रा में सोना लगा हुआ है जिसको कटर से छीलकर लोगों को दिखाते थे और बोलते थे कि पहले कहीं भी ले जाकर सोना चेक करा लो. सोना चेक कराने के बाद लोग हमारे झांसे में आकर असली सोना सस्ता समझकर रुपये देकर नकली सोना खरीद ले जाते थे."

गिरफ्तार अभियुक्त कई जनपदों में इस प्रकार की बहुत सी घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं. गिरफ्तार लोगों में उमा शंकर पुत्र लालू, किशन पुत्र उमाशंकर और लक्ष्मी पत्नी उमाशंकर है. सभी हापुड़ जनपद के रहने वाले है. पुलिस ने इनके पास से 146000 रुपये नगद विभिन्न डिजाइनों के 101 पाजेब, 176 पीली धातु की अंगूठी, 8 सफेद धातु की अंगूठी, 33 पीली धातु की माला, 28 पीली धातु के टप्स, एक जोड़ी कुंडल पीली धातु, 13 कंठी माला मोती, 14 मंगलसूत्र, 66 कंठी माला, एक लकड़ी पर लिपटा हुआ सोना धातु का तार बरामद किया है.

गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में वरिष्ठ उपनिरीक्षक अजय पाल सिंह, उप निरीक्षक कोमल सिंह, कॉन्स्टेबल जोगेंद्र, पुरुषोत्तम, अमित और रीना है.

इनपुट आईएएनएस से भी