योगी का ऑपरेशन मुख्तार: आज गोदाम पर बुलडोजर, दलितों की जमीन पर किया था माफिया ने कब्जा

मऊ के दक्षिण टोला थाना क्षेत्र के रैनी गांव में मुख्तार अंसारी के माफिया गैंग ने मुख्तार अंसारी की पत्नी आफ्सा अंसारी और पत्नी के भाई आतिफ अंसारी के नाम पर जमीन खरीद कर निजी गोदाम बनाया और उसे भारतीय खाद्य निगम को किराये पर दे दिया. 

योगी का ऑपरेशन मुख्तार: आज गोदाम पर बुलडोजर, दलितों की जमीन पर किया था माफिया ने कब्जा
अवैध गोदाम तोड़ता बुलडोजर

मऊ: बाहुबली नेता और पूर्वांचल के माफिया मुख्तार अंसारी पर योगी सरकार का शिकंजा कसता ही जा रहा है. लखनऊ में मकान, मऊ में स्लॉटर हाउस तोड़ने के बाद आज मऊ में ही मुख्तार अंसारी के एक अवैध गोदाम पर बुलडोजर चल गया. लाखों की जिस जमीन पर मुख्तार अंसारी एंड गैंग कब्जा किए बैठा था, वो दरअसल दलितों की थी. इस पर मुकदमा भी चल रहा था, लेकिन बाहुबली ने जमीन पर एफसीआई रेंज गोदाम बना रखा था. 

माफिया की बीवी और उसके भाई के नाम थी जमीन 
मऊ के दक्षिण टोला थाना क्षेत्र के रैनी गांव में मुख्तार अंसारी के माफिया गैंग ने मुख्तार अंसारी की पत्नी आफ्सा अंसारी और पत्नी के भाई आतिफ अंसारी के नाम पर जमीन खरीद कर निजी गोदाम बनाया और उसे भारतीय खाद्य निगम को किराये पर दे दिया. जिस जमीन पर इस गोदाम को बनाया गया उस जमीन के बगल में ग्राम समाज और अनुसूचित जाति के शख्स की भी जमीन थी जिस पर मुख्तार गैंग ने अवैध कब्जा करके बाउंड्रीवाल को बना दिया. शासन के निर्देश पर मुख्तार अंसारी कब आपराधिक आर्थिक साम्रज्य को ध्वस्त करने की मुहिम में गोदाम पर बुलडोजर चलाकर ग्राम समाज और अनुसूचित जाति की जमीन को खाली करा लिया गया.

बागपत: मामूली विवाद में दो पक्ष हुए एक-दूसरे के खून के प्यासे, वायरल वीडियो के बाद 11 गिरफ्तार 

गैर-कानूनी तरीके से हुआ खारिज-दाखिल
डीएम ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि मुख्तार अंसारी की पत्नी के साथ गोदाम में तीन और पार्टनर हैं. अनुसूचित जाति की जमीन पर जो कब्जा किया, उसे बिना सही कागजी कार्रवाई और डीएम के आदेश के बगैर ही खारिज दाखिल कराया लिया था. काफी लंबे अरसे से यह जमीन माफियाओं के कब्जे में रही है. डीएम ने बताया कि इस मामले में और भी जांच चल रही है. 

मुख्तार अंसारी की 70 करोड़ की संपत्ति मिट्टी में मिली 
अब तक मुख्तार अंसारी की मऊ, गाजीपुर और अब लखनऊ में स्थित लगभग 70 करोड़ की अवैध संपत्ति को ध्वस्त किया गया है. वहीं, 41 करोड़ की आय वाले अवैध धंधों पर ताला लगा दिया गया है. मुख्तार अंसारी के गैंग में शामिल 97 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है. वहीं, 75 अपराधियों पर गैंगस्टर एक्ट और 12 पर गुंडा एक्ट लगाया गया है. मुख्तार अंसारी और उसके गैंग को दिए गए 75 शस्त्र लाइसेंस निरस्त कराए गए हैं. 

WATCH LIVE TV