close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आज यशोदा अस्पताल में फिर भर्ती हो सकते हैं मुलायम सिंह, हो सकता है ऑपरेशन

यशोदा अस्पताल के जीएम (ऑपरेशन्स) डॉ सुनील डागर ने बताया जांच में सामने आया कि उनकी यूरिन की नली में  दिक्कत है. इसी अस्पताल में थूलियम लेजर विधि से ऑपरेशन किया जा सकता है.

 आज यशोदा अस्पताल में फिर भर्ती हो सकते हैं मुलायम सिंह, हो सकता है ऑपरेशन
सोमवार को यशोदा अस्पताल पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव.

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव को खराब सेहत के कारण सोमवार (24 जून) दोपहर गाजियाबाद के कौशांबी स्थित यशोदा अस्पताल में भर्ती कराया गया है. हालांकि उपचार के बाद देर शाम उन्हें अस्पताल से छ्ट्टी दे दी गई थी. जानकारी के मुताबिक, इसी अस्पताल में उनका आज थूलियम लेजर विधि से ऑपरेशन किया जा सकता है. आपको बता दे कि पिछले कई दिनों से मुलायम सिंह की तबीयत खराब चल रही है. 

यशोदा अस्पताल के जीएम (ऑपरेशन्स) डॉ सुनील डागर ने बताया जांच में सामने आया कि उनकी यूरिन की नली में रुकावट है. तमाम जांच के बाद उन्हें सोमवार शाम को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी. उन्होंने बताया कि सोमवार दोपहर करीब दो बजे मुलायम सिंह अपने भतीजे और पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव के साथ कौशांबी स्थित यशोदा सुपरस्पेशलिटी अस्पताल पहुंचे थे. पूर्व मुख्यमंत्री के जांच के लिए डॉक्टरों की टीम उनके इलाज में जुट गई. बताया जा रहा है कि मुलायम सिंह को यूरिन पास करने में दिक्कत आ रही थी. वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. असित खन्ना की अगुवाई में उनकी जांच की गई. साथ ही दवा दी गई. 

सोमवार शाम अस्पताल में उनका प्री एनेस्थीसिया टेस्ट हुआ. टेस्ट में वह ऑपरेशन के लिए पूरी तरह फिट पाए गए. ऐसा माना जा रहा है कि ऑपरेशन के लिए वह मंगलवार (25 जून) को अस्पताल में दोबारा से भर्ती हो सकते हैं. सोमवार शाम को अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद वह दिल्ली स्थित आवास के लिए रवाना हो गए. 

आपको बता दें इससे पहले भी मुलायम सिंह को शनिवार (22 जून) शाम गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. स्वास्‍थ्य में सुधार होने के बाद उन्हें रविवार को डिस्चार्ज कर दिया गया था. बताया जा रहा है कि अब उनका शुगर लेवल कंट्रोल में है और उन्हें आराम करने की सलाह देकर घर भेजा गया है.