लव जिहाद में युवती की बेरहमी से हत्या, साल भर आरोपी चलाता रहा प्रेमिका का फेसबुक अकाउंट

पहले झूठ बोलकर प्यार, फिर प्यार के नाम पर अय्याशी और फिर एक दिन बेरहमी से हत्या. मेरठ में एक साल पहले हुई एक युवती की नृशंस हत्या की गुत्थी अब जाकर सुलझी है. ये मामला लव जिहाद का था, जहां आरोपी ने लड़की को झूठ बोलकर लड़की को प्रेम जाल में फंसाया और पैसे ऐंठने के बाद उसकी हत्या कर दी.

  लव जिहाद में युवती की बेरहमी से हत्या, साल भर आरोपी चलाता रहा प्रेमिका का फेसबुक अकाउंट
मेरठ पुलिस ने मुठभेड़ में हत्यारोपी को पकड़ा

मेरठ: पहले झूठ बोलकर प्यार, फिर प्यार के नाम पर अय्याशी और फिर एक दिन बेरहमी से हत्या. मेरठ में एक साल पहले हुई एक युवती की नृशंस हत्या की गुत्थी अब जाकर सुलझी है. ये मामला लव जिहाद का था, जहां आरोपी ने लड़की को झूठ बोलकर लड़की को प्रेम जाल में फंसाया और पैसे ऐंठने के बाद उसकी हत्या कर दी. पुलिस ने आरोपी को एनकाउंटर में पकड़ा. वो पुलिस की ही बंदूक छीनकर भागने की फिराक में था, लेकिन नाकाम रहा. आरोपी के शातिर दिमाग का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि उसने साल भर पहले अपनी प्रेमिका को बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया, लेकिन इस हत्याकांड का खुलासा अब जाकर हुआ है. 

मृतक युवती की मां ने जड़े थप्पड़ 
पुलिस ने साल भर पहले हुई युवती की हत्या के मुख्य आरोपी शाकिब समेत 6 और लोगों को गिरफ्तार किया है, जिन्होंने इस जघन्य कांड में उसका साथ दिया. जब प्रेस कांफ्रेंस के दौरान मृतक युवती की मां को पूरी कहानी पता चली तो उन्होंने वहीं उठकर शाकिब पर थप्पड़ों की बरसात कर दी.

जून 2019 में मिला शव लेकिन नहीं हो पाई पहचान 
युवती का शव जून 2019 को मेरठ में एक खेत से बरामद हुआ था, लेकिन सिर और धड़ अलग होने की वजह से उसकी पहचान नहीं हो पाई थी. पुलिस लगातार मामले को ट्रैक करती रही. सर्विलांस सेल टीम और दौराला पुलिस को संदिग्ध गतिविधियों की खबर लगी तो उन्होंने इन 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया. जब इस जघन्य हत्याकांड पर से पर्दा उठा तो सभी हैरान रह गए. हत्याकांड में शाकिब के साथ उसकी भाभी रेशमा और उसके 4 साथी सामिल थे. पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल किया गया फावड़ा, आलाकत्ल और मृतका का मोबाइल बरामद कर लिया है. 

इसे भी पढ़िए: उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा हुआ 8870, स्वस्थ होने के बाद 5257 रोगी डिस्चार्ज

झूठ बोलकर युवती को प्रेम-जाल में फंसाया 
जिस युवती की हत्या हुई थी, वो लुधियाना की रहने वाली थी. वहीं पार्ट टाइम जॉब भी करती थी. मेरठ का रहने वाला हत्यारोपी शाकिब भी लुधियाना में तंत्र मंत्र का भी कार्य करता था. लुधियाना में किसी अखबार में विज्ञापन पढ़कर ये युवती उसके पास इलाज के लिए पहुंची. यहीं से शाकिब ने उसे खुद को हिंदू बताकर दोस्ती कर ली. शाकिब ने अपना नाम अमन बताकर लड़की से खूब बातें करनी शुरू कर दीं. थोड़े दिन बाद शाकिब ने करनाल में अपना ऑफिस खोला, जिसके लिए उसने लड़की से अच्छी खासी रकम भी ऐंठी. शाकिब के प्यार में पागल युवती ने अपने घर से लाखों के गहने और पैसे उसे लाकर दे दिए. 

शादी के आड़े आया धर्म तो शुरू हुआ विवाद 

शाकिब ने लड़की को अपना धर्म हिंदू बताया था. ऐसे में करनाल में कुछ वक्त शाकिब के साथ रहने के बाद उसने शादी की जिद की. शाकिब को जब ये मामला गले की हड्डी लगने लगा तो वो प्लानिंग के साथ युवती को मेरठ लाया और उसकी हत्या कर दी. नशे की गोली देकर युवती को शाकिब और उसके साथियों ने बेहोश किया और फिर खेत में ले जाकर गला दबाकर हत्या कर दी. पहचान छिपाने के लिए उसका सिर धड़ से अलग कर दिया और हाथ-पैर भी काट दिए. युवती के शव पर नमक डालकर हत्यारों ने उसे गड्ढे में दबा दिया. 

ये भी देखें : बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में CBI कोर्ट में पेशी, 32 में से 7 आरोपी दर्ज करा सकते हैं बयान

प्रेमिका के मर्डर के बाद चलाता रहा फेसबुक अकाउंट 
युवती की हत्या के बाद शाकिब और गुनाह में शामिल उसके साथी करनाल जाकर अपने तंत्र मंत्र का काम करने लगे. युवती के घरवाले शाकिब को पहचानते और जानते थे, इसलिए शाकिब ने एक तरकीब निकाली. वो युवती के फोन से ही उसकी फेसबुक आईडी लगातार अपडेट करते रहा, ताकि घरवालों को उसकी मौत हो जाने का पता भी न चले.

WATCH LIVE TV