मथुरा: रिश्तेदारों को गेस्ट हाउस छोड़ने गए कानूनगो के बेटे की हत्या, जंगल में मिला शव

इंस्पेक्टर ने बताया, तलाशी में उसका मोबाइल फोन, गले में सोने की जंजीर, जेब में नकदी आदि सुरक्षित मिली जिससे स्पष्ट है कि उससे लूटपाट नहीं की गई.

मथुरा: रिश्तेदारों को गेस्ट हाउस छोड़ने गए कानूनगो के बेटे की हत्या, जंगल में मिला शव
फाइल फोटो

मथुरा: मथुरा जिले में अज्ञात लोगों ने राजस्व विभाग में कार्यरत रजिस्ट्रार कानूनगो के युवा पुत्र की हत्या कर शव जंगल में यमुना किनारे फेंक दिया. बुधवार (08 मई) को घटना का पता चला. पुलिस ने पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया और मुकदमा दर्ज कर जांच कर रही है. 

सदर थाना प्रभारी निरीक्षक लोकेश भाटी ने गुरुवार (09 मई) को बताया, सोमवार को पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय परिसर में स्थित सरकारी क्वार्टर में रह रहे कानूनगो हरिपाल के बड़े बेटे राजदीप की शादी थी. उनका 24 वर्षीय पुत्र विश्वदीप मंगलवार की सुबह करीब पांच बजे, कुछ रिश्तेदारों को गेस्ट हाउस तक छोड़ने के लिए घर से निकला लेकिन वापस नहीं लौटा.

 

उन्होंने बताया, परिजनों के अनुसार, विश्वदीप स्नातक कर चुका था और इन दिनों प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था. तलाश करने पर उसका कोई पता नहीं चला. बुधवार को उसका शव मथुरा विकास खण्ड कार्यालय जाने वाले मार्ग पर यमुना के किनारे सुनसान स्थान पर पड़ा मिला.

इंस्पेक्टर ने बताया, तलाशी में उसका मोबाइल फोन, गले में सोने की जंजीर, जेब में नकदी आदि सुरक्षित मिली जिससे स्पष्ट है कि उससे लूटपाट नहीं की गई.