उत्तराखंड: कैंची धाम में बादल फटने से मची तबाही, सड़कों पर आया मलबा, NH 87 भी बंद

 जिलाधिकारी ने बताया कि जनहानि की कोई सूचना नहीं है. 

उत्तराखंड: कैंची धाम में बादल फटने से मची तबाही, सड़कों पर आया मलबा, NH 87 भी बंद
कैंची धाम मंदिर के पास फटा बादल

नैनीताल: उत्तराखंड में अलग-अलग जिलों में भारी बारिश हो रही है. मंगलवार को जहां देवप्रयाग में बादल फटा था. वहीं, बुधवार को भी कैंची धाम मंदिर के पास बादल फटा है. यहां कई मकानों और दुकानों में मलबा घुस गया है. साथ ही अल्मोड़ा-भीमताल- हल्द्वानी एनएच 87 भी मलबा की वजह से बंद हो गया है. 

जनहानि की सूचना नहीं 
वहीं, जिलाधिकारी ने बताया कि जनहानि की कोई सूचना नहीं है. नुकसान का आकलन किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि मौके जेसीबी मौजूद है, जो मलबा हटाने का काम कर रही है. हाईवे खोलने का प्रयास जारी है. हाईवे खुलने में पूरी रात का समय लग सकता है. आपको बता दें कि तेज बारिश और बादल फटने की वजह से सड़क मार्ग पूरी तरह बंद हो गया. दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई. 

मंगलवार को देवप्रयाग में भी फटा था बादल 
गौरतलब है कि बीते मंगलवार को टिहरी जिले के देवप्रयाग में भी बादल फटने से भारी तबाही हुई. नगर पालिका का बहुउददेशीय भवन समेत दो भवन जमींदोज हो गए हैं. पूरा क्षेत्र मलबे से पट गया. मंगलवार को करीब पांच बजे शांता नदी के ऊपरी छोर पर बादल फटने से नदी ने विकराल रूप धारण कर लिया. नदी में आए मलबे ने शांति बाजार में भारी तबाही मचाई. 

WATCH LIVE TV