UP: आगरा में डॉग्स का कराना होगा रजिस्ट्रेशन, देने पड़ेंगे 1000 रुपए, जानिए पूरी खबर

कुत्ता पालने के लिए अब नगर निगम में रजिस्ट्रेशन कराना होगा. इसके साथ ही एक हजार रुपये का टैक्स भी सालाना देना पड़ेगा.  

UP: आगरा में डॉग्स का कराना होगा रजिस्ट्रेशन, देने पड़ेंगे 1000 रुपए, जानिए पूरी खबर
कुत्ता पालने के लिए अब नगर निगम में रजिस्ट्रेशन कराना होगा.

आगरा: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आगरा (Agra) में घर की रखवाली या फिर शौक के लिए अब कुत्ता पालना महंगा पड़ेगा. कुत्ता पालने के लिए अब नगर निगम में रजिस्ट्रेशन कराना होगा. इसके साथ ही एक हजार रुपये का टैक्स भी सालाना देना पड़ेगा. इस पूरी कवायद के लिए नगर निगम ने प्रक्रिया भी शुरू कर दी है.

दरअसल, हाल ही में नगर निगम में ये प्रस्ताव रखा गया कि कुत्ता पालने के लिए पंजीकरण कराना होगा. साथ ही सालाना टैक्स भी देना होगा. जिस पर अधिकांश पार्षदों का समर्थन मिला.

बता दें कि म्युनिसिपल एक्ट 2008 में दिए प्रावधान के अनुसार कुत्ता पालने के लिए नगर निगम की अनुमति की जरूरत होती है. इसके लिए नगर निगम में बाकायदा पंजीकरण कराना होता है. इसके लिए कानून भी बने हुए हैं, लेकिन इनका पालन नहीं किया जाता. इसी को लेकर नगर निगम के राजस्व को बढ़ाने के लिए निगम के सदन में पार्षदों ने ये प्रस्ताव रखा. पार्षदों द्वारा बताया गया कि शहर में करीब दस हजार पालतू कुत्ते हैं. जिनका निगम में कोई रजिस्ट्रेशन नहीं है. ये जगह-जगह गंदगी करते हैं और उस गंदगी को निगम के कर्मचारी साफ करते हैं. ऐसे में नगर निगम को कुत्ता पालने वालों से 1000 रुपए सालाना टैक्स लेना चाहिए.

प्रस्ताव के मुताबिक अगर दस हजार पालतू कुत्तों के मालिकों से 1000 रुपए सालाना टैक्स लिया गया तो इससे नगर निगम को एक करोड़ की आमदनी होगी. इस प्रस्ताव पर चर्चा होने के बाद इसे आनन फानन में पास भी कर दिया गया. निगम अधिकारियों के अनुसार इसे जल्द धरातल पर लाया जाएगा और टैक्स प्रक्रिया शुरू की जाएगी.

वहीं, आम लोगों में इस फैसले का विरोध भी शुरु हो गया है. कुछ ने इसे गलत बताते हुए दलील दी कि कुछ लोग सिर्फ बच्चों का मन रखने के लिए कुत्ता पाल लेते हैं. वहीं, कुछ सिर्फ सेवा भाव की दृष्टि से कुत्तों को पालते हैं. ऐसे में इनसे टैक्स वसूलना गलत है.