UP: निर्मोही अखाड़े ने फिर उठाई राम मंदिर निर्माण में भागीदारी की मांग

निर्मोही अखाड़े ने एक बार फिर राम मंदिर निर्माण में भागीदारी की मांग उठाई है.

UP: निर्मोही अखाड़े ने फिर उठाई राम मंदिर निर्माण में भागीदारी की मांग
सांकेतिक तस्वीर

लखनऊ: अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद से ही राम मंदिर निर्माण की सुगबुगाहट तेज हो गई है. कहा जा रहा है कि अप्रैल तक मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा. इस बीच निर्मोही अखाड़े ने एक बार फिर राम मंदिर निर्माण में भागीदारी की मांग उठाई है.

अखाड़े के साधु संतों का कहना है कि राम मंदिर बनाने में हमारा भी योगदान होना चाहिए. क्योंकि हमारी परंपरा कोई एक दो दिनों की नहीं है, बल्कि देश की आज़ादी के समय से अब तक हमने हमेशा ही पूरा योगदान दिया है. संतों ने कहा कि राजेंद्र दास जी महाराज वृन्दावन, राजाराम चन्द्राचार्य जी महाराज डाकोर गुजरात, रामसेवक दास जी महाराज ग्वालियर, सीताराम दास जी महाराज गोवर्धन, धन्वंतरि दास जी महाराज वृन्दावन और हर्षवर्धन कौशिक गोवर्धन की पीठ ने हार्दिक चोपड़ा और डॉ. राज सिंह को सलाहकार नियुक्त किया है जो सरकार के साथ कॉर्डिनेट करेंगे.

निर्मोही अखाड़े के संतों ने कहा कि निर्मोही अखाड़ा शुरू से राम मंदिर निर्माण से जुड़ा रहा है. इसीलिए जब भूमि पूजन किया जाए, तब उसमें पहला पत्थर हमारे पंचों द्वारा रखा जाए और मंदिर निर्माण में भी हमारा योगदान हो. इसी के साथ संतों ने कहा कि सरकार राम मंदिर निर्माण के लिए नई ट्रस्ट बनाने जा रही है, उसमें निर्मोही अखाड़े के अधिकांश ट्रस्टी को रखा जाए.