तबलीगी जमात के 89 लोग आगरा में पकड़े गए, पुलिस ने मुस्लिम बस्तियों में शुरू किया ऑपरेशन क्लीन

आगरा में 89 लोगों को क्वारेंटाइन किया गया है. शहर की 8 मस्जिदों में सभी 89 लोग रह रहे थे. आगरा पुलिस और प्रशाशन ने मुस्लिम बस्तियों में ऑपरेशन क्लीन की शुरुआत की है.

तबलीगी जमात के 89 लोग आगरा में पकड़े गए, पुलिस ने मुस्लिम बस्तियों में शुरू किया ऑपरेशन क्लीन

आगरा: राजधानी दिल्ली के निजामुददीन इलाके में तबलीगी जमात में शामिल लोगों का आगरा में आंकड़ा बढ़ गया है. आगरा में 89 लोगों को क्वारेंटाइन किया गया है. शहर की 8 मस्जिदों में सभी 89 लोग रह रहे थे. आगरा पुलिस और प्रशाशन ने मुस्लिम बस्तियों में ऑपरेशन क्लीन की शुरुआत की है.

यह आंकड़ा सुबह 3 था जो शाम तक बढ़कर 89 पहुंच गया. इन जमातियों में 13 दिल्ली,13 मध्यप्रदेश, राजस्थान और बाकी आगरा के रहने वाले हैं. इन 15 मार्च के बाद की ट्रेवल हिस्ट्री है. इनमें से 28 जमाती दिल्ली के निजामुद्दीन के तबलीगी जमात से जुड़े हुए बताए जा रहे हैं. इन सभी को शहर के सिकन्दरा क्षेत्र में मधु रेसॉर्ट में बने क़्वारेण्टाइन सेंटर में रखा गया है. स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इनके सैंपल लिए हैं जबकि पुलिस इनसे और लोगों की जानकारी ले रही है. 

मेरठ और सहारनपुर की मस्जिदों में पुलिस ने मारा छापा, छिपाकर रखे गए थे 58 विदेशी

यूपी के 19 जिलों बहराइच, गोंडा, बलरामपुर, गाजियाबाद, प्रयागराज, भदोही, लखनऊ, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, बाराबंकी, मेरठ, बिजनौर, आगरा, वाराणसी, हापुड़, मथुरा, शामली और सीतापुर के 157 लोग निजामुद्दीन मरकज में ठरहे थे. इस लिस्ट में मुजफ्फरनगर के सर्वाधिक 28 लोग शामिल हैं, जबकि राजधानी लखनऊ के 20 लोगों ने भी इस धार्मिक आयोजन में शिरकत किया था. इनमें से 51 लोग वृंदावन से पकड़े गए हैं. जबकि आगरा में 89 लोग पकड़े गए हैं. इन सभी को क्वारेंटाइन किया गया है.

UP में COVID-19 मरीजों की संख्या 100 के पार, अब लॉकडाउन में पैदल चलने वालों पर भी होगा एक्शन

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली की घटना को गंभीरता से लेते हुए निर्देश दिया है कि, आयोजन से यूपी लौटे सभी लोगों की तुरंत पहचान कर उनकी जांच की जाए. साथ ही यह भी निर्देश जारी किया है कि जिन लोगों ने अपनी पहचान जाहिर नहीं की उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए. हालांकि आयोजन से लौटे 95 प्रतिशत लोगों की पहचान कर ली गई है. केवल 10 से 12 लोगों की पहचान करनी शेष है.