अब हॉस्पिटल में मोबाइल नहीं रख सकेंगे कोरोना मरीज, वजह है चौंकाने वाली

फोन पर परिजनों से बात कराने के लिए अस्पताल में दो अलग से फोन की व्यवस्था होगी. वार्ड इंचार्ज मरीजों को उनके परिजनों से बात कराएगा. यह प्रतिबंध एल-2 और एल-3 अस्पतालों में लगाए गए हैं.

अब हॉस्पिटल में मोबाइल नहीं रख सकेंगे कोरोना मरीज, वजह है चौंकाने वाली
प्रतिकात्मक तस्वीर

पवन सिंह/लखनऊ: कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों को लेकर योगी सरकार ने थोड़ी सख्ती दिखाई है. अब यहां मरीज अपने मोबाइल फोन नहीं रख सकेंगे. फोन पर परिजनों से बात कराने के लिए अस्पताल में दो अलग से फोन की व्यवस्था होगी. वार्ड इंचार्ज मरीजों को उनके परिजनों से बात कराएगा. यह प्रतिबंध एल-2 और एल-3 अस्पतालों में लगाए गए हैं. डीजी चिकित्सा शिक्षा ने इस सम्बंध में एक आदेश जारी किया है.

अगर आपको लग रहा होगा कि मोबाइल फोन से कोरोना फैलता होगा तो ऐसा नहीं है. सूत्रों की मानें तो यह फैसला अस्पताल में मोबाइल रखने वाले मरीज सोशल मीडिया पर अव्यवस्थाओं की भयावह तस्वीरें और वीडियो बना कर डाल दे रहे थे, जिससे सरकार की किरकिरी और झूठे दावों की पोल खुल रही थी, इसलिए यह फैसला किया गया है.

दूसरे प्रदेशों में फंसे यूपी के लोगों को लेकर योगी सरकार ने लिया अब तक का सबसे बड़ा फैसला

हाल ही में क्वारंटाइन सेंटर और अस्पतालों की दर्दनाक तस्वीरें मेरठ और आगरा से वायरल हुई थीं. जिससे सरकार की खासी फजीहत हुई थी. शायद इसी के मद्देनजर यह आदेश जारी किए गए हैं.