इंदौर और अंबिकापुर मॉडल को अपनाएगी नोएडा अथॉरिटी, प्राधिकरण की CEO ने शुरू की खास मुहिम

नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) की सीईओ Ritu Maheswari ने शहर को स्वच्छ बनाने के लिए किए गए कार्यों के बारे में जानकारी दी. स्वच्छता की दिशा और प्लास्टिक फ्री नोएडा (Plastic Free Noida) शहर के लिए नोएडा प्राधिकरण ने बर्तन बैंक, थैला बैंक, E-वेस्ट वेंडिंग मशीन लगाई है.

इंदौर और अंबिकापुर मॉडल को अपनाएगी नोएडा अथॉरिटी, प्राधिकरण की CEO ने शुरू की खास मुहिम

नोएडा: गौतमबुद्धनगर (GautamBuddha Nagar) के नोएडा शहर को साफ-सुथरा बनाने और स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में टॉप रैंकिग दिलाने के लिए नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) लगातार काम कर रहा है. नोएडा (Noida) की मुख्य कार्यपालक अधिकारी ऋतु महेश्वरी (Ritu Maheswari) इस दिशा में बड़ा अभियान चला रही हैं. नोएडा को स्वच्छता के मामले में नंबर-वन बनाने की कवायद पर जोर-शोर से काम किया जा रहा है.

कोहरे की घनी चादर में लिपटा Delhi-NCR, प्रदूषण के लेवल के साथ बढ़ीं लोगों की मुश्किलें

नोएडा को बनाना है नंबर-1 
मंगलवार को स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के लिए नोएडा के सेक्टर-6 स्थित गांधी कला केंद्र में स्वच्छता कार्यक्रम आयोजित किया गया. प्राधिकरण की सीईओ ऋतु महेश्वरी ने इस दौरान कहा कि "शहर साफ रहे यह जिम्मेदारी जितनी विकास प्राधिकरण की है, उतनी ही शहर के लोगों की भी बनती है. लोगों को अपनी जिम्मेदारी समझकर बेहतर सफाई व्यवस्था बनाने में सहयोग करना होगा. उन्होंने कहा कि लोगों में अब भी सिविक समझ की कमी है. इस कम्यूनिकेशन गैप को भरने की जरूरत है. सभी को अपनी भागीदारी निभाने की जरूरत है तब ही हम शहर को टॉप-5 में रैंक कर पाएंगे. हमारी कोशिश है कि हम नोएडा को नंबर-1 बनाएं.

नोएडा को जनभागीदारी से स्वच्छ बनाएं
ऋतु माहेश्वरी ने बताया कि शहर को जनभागीदारी से स्वच्छ बनाएंगे और टॉप 5 शहरों में शामिल करेंगे. स्वच्छता की दिशा और प्लास्टिक फ्री नोएडा शहर के लिए नोएडा प्राधिकरण ने बर्तन बैंक, थैला बैंक, E-वेस्ट वेंडिंग मशीन लगाई है. ऋतु महेश्वरी ने, प्राधिकरण के द्वारा इस दौरान शहर को स्वच्छ बनाने के लिए क्या-क्या काम किए हैं या इस दिशा में जो काम होने है उसके बारे में जानकारी दी. 

स्वच्छ रखने की जिम्मेदारी आगे बढ़कर लेनी होगी
उन्होंने अंबिकापुर और इंदौर का उदाहरण देते हुए कहा कि वहां के लोग एक-दूसरे को गंदगी फैलाने से रोकते हैं. स्वच्छता को लेकर ऐसी ही भावना शहरवासियों में होनी चाहिए. लोगों को खुद के साथ-साथ आसपास के इलाके को पूरी तरह स्वच्छ रखने की जिम्मेदारी आगे बढ़कर लेनी होगी.

स्वछता सर्वेक्षण 2021 में इंटर्नशिप प्रोग्राम की शुरुआत
प्राधिकरण ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत 20 इंटर्न को एनरोल किया, जिनकी मदद और आईडिया से स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के लिए काम किया जाएगा. इंटर्न कि मदद से यूनिवर्सिटी, कॉलेज, गांव और सेक्टरों में स्वचछता के प्रति जागरुकता फैलाई जाएगी. इंटीग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर और इंटर्न के इनपुट की मदद से शहर को स्वच्छ बनाने की पहल की जाएगी. ऋतु माहेश्वरी ने बताया कि शहर को स्वच्छ बनाने के लिए प्राधिकरण के कर्मचारी और अधिकारी प्रतिबद्ध है और शहर को टॉप 5 शहरों में शामिल करने की कोशिश जारी है.

लखनऊ और गौतमबुद्ध नगर पुलिस को CM योगी ने दी बड़ी पावर

WATCH LIVE TV