दबंगों को रास नहीं आई 'बुलेट रानी', घर पर धावा बोलकर दी धमकी, केस दर्ज

Greater Noida: आरोप है कि  दबंगों ने लड़की के घर पर धावा बोलकर गाली गलौज और फायरिंग भी की. परिवार को धमकी देने वालों में जारचा थाने के हिस्ट्रीशीटर भी है, पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है.

दबंगों को रास नहीं आई 'बुलेट रानी', घर पर धावा बोलकर दी धमकी, केस दर्ज
इस घटना से दहशत में जी रहा लड़की के परिवार ने पुलिस में शिकायत दी है.

ग्रेटर नोएडा: एक तरफ तो सरकार लड़कियों और महिलाओं की सशक्तिकरण (Women Empowerment) को बढ़ावा देने के लिए कदम उठा रही है, वहीं दूसरी तरफ जब कोई लड़की पुरुषों की बराबरी करने की कोशिश करती है, तो उसको कुचलने के लिए कोशिश शुरू हो जाती है. ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) के जारचा के एक गांव में जब एक लड़की ने बुलेट (मोटरसाइकिल) चलाने चलाना शुरु किया, तो गांव के दबंगों को यह बात इतनी नागवार गुजरी, कि उन्होंने लड़की के घर पर धावा बोल दिया.

आरोप है कि दबंगों ने गाली गलौज और फायरिंग भी की. इस घटना से दहशत में जी रहा लड़की के परिवार ने पुलिस में शिकायत दी है, जिस पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है. परिवार को धमकी देने वालों में जारचा थाने के हिस्ट्रीशीटर भी है, पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है.

घटना ग्राम मिलक खटाना की है, जहां रहने वाले निवासी सुनील मावी ने थाना जारचा में शिकायत दी है कि 31 अगस्त को लगभग 1:30 बजे मेरे गांव के सचिन, कुल्लू और दो अन्य लोग उनके घर पहुंचे और धमकी देते हुए बोले, 'तेरी लड़की अगर बुलेट (मोटरसाइकिल) चलाएगी, तो हम तेरी लड़की को मार देंगे. जब उन्होंने इसका विरोध किया तो उनके साथ गाली-गलौज और मारपीट की गई और अवैध हथियार से फायरिंग हवा में करने लगे. बदमाशों ने धमकी दी कि अगर इस घटना की जानकारी पुलिस को दी 'तो तुझे देखे लेंगे'. 

लाइव टीवी देखें

पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर सचिन, कुल्लू और अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 504, 506, 323, 352 और 452 के तहत एफ़आईआर दर्ज़ कर मामले की जांच शुरू कर दी है और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है. वहीं, जब मामले ने तूल पकड़ा तो दबंगों के घर पर पंचायात बुलाकर मामले में दोनों पक्षों में समझौता होने की बात कही और पूर्व प्रधान से मीडिया को बयान भी दिलवाया. लेकिन एसपी देहात ने ऐसे किसी समझौते से इंकार करते कहा हमने मुकदमा लिखा है और कार्रवाई कर रहे है.