37000 रुपये में बेचते थे Remdesivir का एक इंजेक्शन, कालाबाजारी करते 3 गिरफ्तार

पूछताछ की जा रही है कि उन्हें रेमिडेसिविर इंजेक्शन कहां से मिली थी.

37000 रुपये में बेचते थे Remdesivir का एक इंजेक्शन, कालाबाजारी करते 3 गिरफ्तार
पुलिस गिरफ्त में तीनों आरोपी.

पवन त्रिपाठी/ गौतमबुद्ध नगर: यूपी में कोरोना का कहर अभी थमा नहीं है. रोजाना बड़ी संख्या में मरीज मिल रहे हैं. ऐसे में प्रदेश में ऑक्सीजन बेड और जरूरी दवाइयों की मांग बढ़ गई है. सरकार भी इसके लिए लगातार प्रयास कर रही है. कोरोना के इस दौर में लोग अलग-अलग तरीकों से अपनों और दूसरे लोगों की मदद कर रहे हैं. लेकिन इस समय ऐसे लोग भी हैं जो लोगों की मजबूरी का फायदा उठाकर मुनाफा कमा रहे हैं. ऐसा ही एक मामला गौतमबुद्ध नगर से सामने आया है जहां पुलिस ने रेमिडिसिवर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. 

क्या है पूरा मामला?
थाना फेस 2 नोएडा पुलिस ने सूचना के आधार पर जीवन रक्षक दवाइयों की कालाबाजारी करने वाले 3 तस्करों को गिरफ्तार किया है. इन अभियुक्तों का नाम परवेज, नईम और निसार है. पुलिस को उनके कब्जे से 5 Remdesivir Injection और 3 मोबाइल फोन बरामद हुए है. बता दें कि इन दिनों पुलिस कालाबाजारी में संलिप्त व्यक्तियों की धरपकड़ और रोकथाम के लिए अभियान चला रही है. 

ये भी पढ़ें- योगी सरकार का ऐलान, अगले हफ्ते से 7 जिलों के अलावा इन जगहों पर भी 18+ वालों को लगेगी वैक्सीन

37 हजार रुपये में बेचते थे इंजेक्शन 
पुलिस के पूछताछ करने पर अभियुक्तों ने बताया कि वह जनता को 37000 रूपये प्रति इंजेक्शन बेचकर लाभ कमाते थे. आपको बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब पुलिस ने महामारी के दौरान जरूरतमंद दवाइयों की कालाबाजारी करने वाले लोगों को गिरफ्तार किया है. 

ये भी पढ़ें- UP Corona Update: यूपी में करीब 29 हजार लोगों ने जीती कोरोना से जंग, नए मामलों में भी आई गिरावट 

इंजेक्शन को भेजा जाएगा फॉरेंसिक टेस्ट के लिए 
एडीसीपी अंकुर अग्रवाल ने बताया कि यह पूछताछ की जा रही है कि उन्हें रेमिडेसिविर इंजेक्शन कहां से मिली थी. साथ ही इन इंजेक्शन की पुष्टि करने के लिए कि ये असली हैं या नकली उसके लिए फॉरेंसिक में भेजा जाएगा. आगे की जांच भी जल्द की जाएगी. 

ये भी देखें- Viral Video: शख्स ने जनरल स्टोर से खरीदा स्पेशल 'मास्क', यूजर्स बोले- Mask के नाम पर धोखा है ये

WATCH LIVE TV