close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उत्तराखंड में पंचायत चुनाव का 'दंगल', 'गांव की सरकार' के लिए आज से नामांकन

Panchayat Elections: देहरादून जिले जिले में 30 जिला पंचायत सदस्य 220 क्षेत्र पंचायत सदस्य और 402 ग्राम पंचायत सदस्यों के लिए चुनाव होना है. जिला प्रशासन ने इसके लिए कलेक्ट्रेट में ही कंट्रोल रूम तैयार किया है. 

उत्तराखंड में पंचायत चुनाव का 'दंगल', 'गांव की सरकार' के लिए आज से नामांकन
प्रतीकात्मक तस्वीर

देहरादून: उत्तराखंड (Uttarakhand) में आज (20 सितंबर) से पंचायत चुनाव (Panchayat Elections) के लिए नामांकन (Nomination) प्रक्रिया शुरू होगी. 24 सितंबर तक पहले चरण के लिए नामांकन प्रक्रिया चलेगी. पहले चरण का मतदान 5 अक्टूबर को होना है. देहरादून (Dehradun) जिले के डोईवाला ब्लॉक में प्रत्याशी नामांकन दाखिल करने के लिए पहुचेंगे. उधर पंचायती राज अधिनियम 2019 नैनीताल हाईकोर्ट (Nainital High Court) के आए फैसले से चुनाव लड़ने वालों के चेहरे भी खिले हुए हैं.

देहरादून जिले जिले में 30 जिला पंचायत सदस्य 220 क्षेत्र पंचायत सदस्य और 402 ग्राम पंचायत सदस्यों के लिए चुनाव होना है. जिला प्रशासन ने इसके लिए कलेक्ट्रेट में ही कंट्रोल रूम तैयार किया है. दूसरी तरफ बीजेपी ने अपने  चुनाव के लिए अपने समर्थित उम्मीदवारों की सूची कल देर रात घोषित कर दी है. 

पंचायत चुनाव में निर्वाचन आयोग ने खर्च की सीमा भी तय कर दी है ग्राम प्रधान चुनाव प्रचार में 50 हज़ार तक खर्च कर सकते हैं, जबकि जिला पंचायत सदस्य के लिए खर्च की राशि साडे 3 लाख रुपये रखी गई है.

लाइव टीवी देखें

वहीं, नैनीताल हाईकोर्ट के आदेश के बाद राज्य सरकार पंचायतों में दो बच्चों के कानून को लेकर सुप्रीम कोर्ट का रुख कर सकती है. पंचायती राज मंत्री अरविंद पाण्डेय के मुताबिक, न्याय विभाग से विचार विमर्श करने के बाद राज्य सरकार सुप्रीम कोर्ट जा सकती है. गुरुवार (19 सितंबर) को ही नैनीताल हाईकोर्ट ने 2 से ज्यादा बच्चों वाले नेताओं को पंचायत चुनाव में हिस्सेदारी करने के लिए अनुमति दे दी थी.

उत्तराखंड सरकार ने जुलाई 2019 में कानून बनाया था कि जिसके दो बच्चे हैं वह पंचायत चुनाव नहीं लड़ सकता इसके बाद तमाम लोग ने नैनीताल हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी.