close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अखिलेश यादव से वापस ली जा सकती है Z+ श्रेणी सुरक्षा, जानें क्या है कारण

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने हाल ही में सीआरपीएफ के तहत सुरक्षा प्राप्त वीआईपी लोगों की सुरक्षा की व्यापक समीक्षा की, जिसमें सभी वीवीआईपी लोगों की सुरक्षा के बारे में चर्चा हुई. 

अखिलेश यादव से वापस ली जा सकती है Z+ श्रेणी सुरक्षा, जानें क्या है कारण
अखिलेश यादव के अलावा करीब दो दर्जन वीआईपी की सुरक्षा या तो वापस ली जाएगी या फिर उसमें कटौती की जाएगी. (फाइल फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की सुरक्षा में कटौती होगी. जानकारी के मुताबिक, अखिलेश यादव को मिली जेड प्लस के तहत मिली ब्लैक कैट सुरक्षा वापस ली जाएगी. सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने हाल ही में सीआरपीएफ के तहत सुरक्षा प्राप्त वीआईपी लोगों की सुरक्षा की व्यापक समीक्षा की. इस समीक्षा के बाद ही सपा अध्यक्ष को दी गई, एनएसजी कवर वापस लेने का फैसला किया गया है.

दो दर्जन वीआईपी की सुरक्षा ली जाएगी वापस
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने हाल ही में सीआरपीएफ के तहत सुरक्षा प्राप्त वीआईपी लोगों की सुरक्षा की व्यापक समीक्षा में यह तय हुआ है कि अखिलेश यादव के अलावा करीब दो दर्जन वीआईपी की सुरक्षा या तो वापस ली जाएगी या फिर उसमें कटौती की जाएगी. इस समीक्षा के बाद एसपी अध्यक्ष को उपलब्ध करवाया गया विशिष्ट राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) कवर वापस लेने का फैसला किया गया. हालांकि अभी तक किसी तरह का कोई अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है. 

लाइव टीवी देखें

साल 2012 में मिली थी सुरक्षा
साल 2012 में अखिलेश यादव के मुख्यमंत्री बनने के बाद केंद्र की तत्कालीन संप्रग सरकार ने उन्हें यह सुरक्षा मुहैया कराई थी. वर्तमान में अत्याधुनिक हथियारों से लैस 22 एनएसजी कमांडो का एक दल अखिलेश के साथ तैनात रहता है.