UP कांग्रेस में हो गए दो फाड़, 'बदलाव' से नाखुश हैं वरिष्ठ नेता, फिर जताई नाराजगी

प्रदेश कांग्रेस के संगठनात्मक ढांचे में हुई उपेक्षा से नाराज चल रहे वरिष्ठ कांग्रेसियों की गुरुवार को लखनऊ में एक बैठक हुई.

UP कांग्रेस में हो गए दो फाड़, 'बदलाव' से नाखुश हैं वरिष्ठ नेता, फिर जताई नाराजगी
यूपी कांग्रेस में हुए इस दो फाड़ से प्रियंका गांधी वाड्रा और पार्टी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कांग्रेस अपनी खोई हुई सियासी जमीन पाने के लिए लगातार कोशिशें कर रही हैं. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कुछ महीने पहले ही यूपी कांग्रेस संगठन में कई बड़े बदलाव किए हैं. इन संगठनात्मक बदलावों के चलते प्रदेश के कई बड़े पदों से वरिष्ठ कांग्रेसियों को साइडलाइन कर दिया गया है. प्रदेश कांग्रेस में युवाओं और नए चेहरों को जिम्मेदारी मिलने के बाद से ही वरिष्ठ कांग्रेसी अब पार्टी के खिलाफ लामबंद हो गए हैं.

प्रदेश कांग्रेस के संगठनात्मक ढांचे में हुई उपेक्षा से नाराज चल रहे वरिष्ठ कांग्रेसियों की गुरुवार को लखनऊ में एक बैठक हुई. वरिष्ठ कांग्रेसी नेता और पूर्व सांसद संतोष सिंह के गोमती नगर स्थित घर पर हुई इस बैठक में कांग्रेस के कई असंतुष्ट वरिष्ठ नेता शामिल हुए. इनमें विनोद चौधरी, सिराज मेहंदी, रामकृष्ण द्विवेदी, संतोष सिंह, मोहम्मद नासिर, गोस्वामी समेत दर्जनों वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मौजूद रहे. बताया जा रहा है कि यूपी कांग्रेस में वरिष्ठ नेताओं को दरकिनार करने के बाद लगातार बगावत के सुर बुलंद हो रहे हैं.

बीते महीने ही पूर्व एमएलसी सिराज मेंहदी के घर पर भी ऐसी ही एक बैठक हुई थी. जिसमें कई वरिष्ठ कांग्रेसी कार्यकर्ता शामिल हुए थे. इसी बैठक में तय हुआ था कि हाशिये पर डाले गए सभी वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं की बैठक लखनऊ की जाए. यूपी कांग्रेस में हुए इस दो फाड़ से प्रियंका गांधी वाड्रा और पार्टी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. कहा जा रहा है कि ये सभी नेता कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने का समय मांग सकते हैं.