सीतापुर: आदमखोर कुत्तों ने फिर बनाया बच्ची को निशाना, घायल बच्ची ने अस्पताल में तोड़ा दम

खैरमपुर गांव की रहने वाली 9 साल की बच्ची सोनम पर गुरुवार को गंभीर रूप से हमला कर घायल दिया था, जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई. 

सीतापुर: आदमखोर कुत्तों ने फिर बनाया बच्ची को निशाना, घायल बच्ची ने अस्पताल में तोड़ा दम
सीतापुर में कुत्तों के आंतक से मरने वाले बच्चों की संख्या अब 14 हो गई है.

नई दिल्ली/सीतापुर: सीतापुर में कुत्तों का खौफ थमने का नाम नहीं ले रहा है. सीतापुर के खैराबाद इलाके के अशरफपुर गांव में शुक्रवार (18 मई) को आदमखोर कुत्तों ने 11 साल की एक बच्ची पर हमला किया. बच्ची को गंभीर अवस्था में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसका इलाज चल रहा है, वहीं गुरुवार (17 मई) को घायल बच्ची ने भी अस्पताल में दम तोड़ दिया है. खैरमपुर गांव की रहने वाली 9 साल की बच्ची सोनम पर गुरुवार को गंभीर रूप से हमला कर घायल दिया था. आनन-फानन में घायल बच्ची को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. सीतापुर में कुत्तों के हमले में मारे गए बच्चों की संख्या अब 14 हो गई है.

ये भी पढ़ें: सीतापुर: नहीं थम रही आदमखोर कुत्तों का आतंक, दो बच्चों पर किया हमला

गुरुवार को दो बच्चों को किया था घायल 
आपको बता दें कि गुरुवार (17 मई) को कुत्तों ने सीतापुर में दो बच्चों को घायल किया था. मामला खैरमपुर गांव का है. हमले में घायल दोनों बच्चियों का गंभीर हालात में जिला अस्पताल में भर्ती किया गया था. जानकारी के मुताबिक, दोनों घायलों में से 9 साल की एक बच्ची सोनम ने अस्पताल में दम तोड़ दिया. 

आम तोड़ने गई थी सोनम
बच्ची की मौत के बाद घर में कोहराम मचा हुआ है. परिजन उस घड़ी को कोस रहे हैं, जब वो बाग में गई. आपको बता दें कि गुरुवार को बच्ची पर कुत्ते ने उस वक्त हमला किया, जब वो बाग में आम तोड़ने गई थी. कुत्तों के वार के बाद बच्ची को गंभीर अवस्था में जिला अस्पताल भर्ती कराया गया. डॉक्टर ने बताया कि बच्ची की गर्दन और कान पर गंभीर चोटें आई थीं.

कुत्तों के आतंक से लोग परेशान
कुत्तों के आतंक से सीतापुर में लोग परेशान हैं. पिछले 6 महीनों से कुत्तों का आतंक कायम हैं. लेकिन पिछले कुछ दिनों से ये बहुत ही आक्रामक हो गए हैं. पिछले 6 महीने में कुत्तों के काटने से अब तक 13 बच्चों की मौत हो चुकी है. 13 में से 7 बच्चों की मौत केवल मई के महीने में हुई है. कुत्तों के आतंक की वजह से लोग घर से बाहर निकलने में डरने लगे हैं.