मथुरा में भराभराकर गिरा जर्जर यात्री स्टैंड, मलबे में दबकर हुई एक शख्स की मौत, तीन की हालत गंभीर

स्थानीय लोगों का आरोप है कि यात्री स्टैंड की हालत पिछले लंबे वक्त से जर्जर थी बावजूद इसके इस ओर ध्यान नहीं दिया गया.   

मथुरा में भराभराकर गिरा जर्जर यात्री स्टैंड, मलबे में दबकर हुई एक शख्स की मौत, तीन की हालत गंभीर
15 साल पहले विधायक निधि से बना था यात्री स्टैंड.

मथुरा: उत्तर प्रदेश के मथुरा में लंबे वक्त से जर्जर रहा यात्री स्टैंड रविवार को भराभराकर गिर पड़ा. इस दौरान 4 लोग इसके नीचे आए गए, जिनमें एक की मौत हो गई, जबकि तीन लोगों को काफी मशक्कत के बाद मलबे से निकाला गया.

ये भी पढ़ें: UP के मोस्ट वांटेड बदन सिंह बद्दो फरारी मामले में 18 महीने बाद हुई कार्रवाई, 4 पुलिस वाले बर्खास्त

हादसा थाना गोवर्धन क्षेत्र के नीमगांव का है, जहां करीब 15 साल पहले विधायक निधि से बना यात्री स्टैंड रविवार को जमींदोज हो गया. इस दौरान आसपास खड़े लोगों में हड़कंप मच गया. मौके पर लोगों की भारी भीड़ जुट गई, वहीं सूचना मिलते ही आनन फानन में पुलिस और रेस्क्यू टीम भी मौके पर पहुंची. काफी मशक्कत के बाद मलबे में दबे 4 लोगों को बमुश्किल बाहर निकाला गया. जिसमें 65 वर्षीय खेमचंद्र की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं 3 अन्य लोगों को गम्भीर हालात में अस्पताल में भर्ती कराया गया.

ये भी पढ़ें: दुबई और सऊदी होकर लौटा था 9वीं पास अबू यूसुफ, पत्नी बोली- ''दो साल से इकट्ठा कर रहे थे बारूद''

उधर, इस घटना के बाद से लोगों में भारी आक्रोश है, स्थानीय लोगों का आरोप है कि यात्री स्टैंड की हालत पिछले लंबे वक्त से जर्जर थी बावजूद इसके इस ओर ध्यान नहीं दिया गया. उधर, तहसीलदार गोवर्धन ने बारिश को यात्री स्टैंड के गिरने की वजह बताया है. उन्होंने कहा कि इस बार भारी बारिश की वजह से यात्री स्टैंड की छत गिरी.

सीएम योगी ने लिया संज्ञान
मुख्यमंत्री योगी ने यात्री शेड के गिरने की घटना का संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दे दिए हैं. उन्होंने घटना में हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए पीड़ित परिवार के लिए 4 लाख की आर्थिक सहायता का भी ऐलान किया है.

WATCH LIVE TV: