close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इलाहाबाद हाईकोर्ट में नए मोटर व्हीकल एक्ट को चुनौती, 27 सितंबर को सुनवाई संभव

याचिकाकर्ता वकील का आरोप है कि दुर्घटनाएं सड़कों की खस्ता हालत ,नियमों के उल्लंघन और रफ ड्राइविंग के चलते हो रही हैं. लेकिन, सरकार इस दिशा में कोई कदम नहीं उठा रही है.

इलाहाबाद हाईकोर्ट में नए मोटर व्हीकल एक्ट को चुनौती, 27 सितंबर को सुनवाई संभव
फाइल फोटो.

प्रयागराज: नये मोटर व्हीकल एक्ट को इलाहाबाद हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है. वकील पूजा मिश्रा ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की है. उनकी याचिका में वाहन दुर्घटनाओं को कम करने के नाम पर जुर्माना बढ़ाने की वैधता को चुनौती दी गई है. याचिकाकर्ता वकील का आरोप है कि दुर्घटनाएं सड़कों की खस्ता हालत ,नियमों के उल्लंघन और रफ ड्राइविंग के चलते हो रही हैं. लेकिन, सरकार इस दिशा में कोई कदम नहीं उठा रही है.

उन्होंने अपनी याचिका में कहा कि सरकार इस दिशा में काम करने के बजाए मोटर व्हीकल एक्ट में संशोधन कर आमलोगों पर भारी जुर्माना लगाकर जबरन वसूली कर रही है. उनका कहना है कि अगर सरकार वर्तमान नियमों को गंभीरत से लेते हुए नगरानी में गंभीरता दिखाए तो सड़क हादसे कम हो जाएंगे. जुर्माना बढ़ाना इस समस्या का हल नहीं है. उम्मीद की जा रही है कि 27 सितंबर को इस जनहित याचिका पर सुनवाई हो सकती है.