वाराणसी में 'केवट संवाद': 'भक्त' मंगला केवट के न्योते पर PM ने बेटी को दी शादी की शुभकामनाएं

मंगला प्रसाद केवट की बेटी को वाराणसी के सांसद और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुभकामनाएं दीं. प्रधानमंत्री मोदी ने उनकी बेटी की शादी पर बधाई संदेश भेजकर आशीर्वाद और नव दंपति को बधाई दी.

वाराणसी में 'केवट संवाद': 'भक्त' मंगला केवट के न्योते पर PM ने बेटी को दी शादी की शुभकामनाएं
PM Modi की ओर से मिले बधाई संदेश को दिखाते मंगला प्रसाद केवट

नवीन पांडेय/ वाराणसी: वाराणसी में PM मोदी कई योजनाओं की सौगात दे रहे हैं, दूसरी ओर इस शहर में रहने वाले मंगला  प्रसाद केवट एक अलग ही वजह से खुश हैं. मंगला प्रसाद इन सौगातों से ज्यादा मोदी द्वारा उन्हें मिले बधाई संदेश से खुश हैं. उनकी खुशी की दो वजहें हैं. एक तो वे अपनी बेटी की शादी कर चुके हैं, दूसरी इस शादी पर उनकी बेटी को वाराणसी के सांसद और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद शुभकामनाएं दीं. प्रधानमंत्री मोदी ने उनकी बेटी की शादी पर आशीर्वाद दिया है और नव दंपति के लिए मंगल कामना की.

वाराणसी के रामनगर क्षेत्र में डोमरी गांव के रहने वाले और ट्राली-रिक्शा चलाने वाले मंगला केवट ने अपनी बेटी की शादी में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रण पत्र दिल्ली और वाराणसी के संसदीय जनसंपर्क कार्यालय को जाकर दिया था. इसी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पत्र लिखकर उन्हें बेटी की शादी की बधाई दी थी.

मंगला केवट की बेटी की शादी 13 फरवरी को हुई. जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के यहां से 8 फरवरी को ही आशीर्वाद पत्र आ गया था. पत्र में लिखा था कि शादी का आमंत्रण पत्र मिला है, परिवार की खुशी में शामिल करने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद.

बनारस के राजघाट निवासी मंगला प्रसाद केवट की कहानी बेहद दिलचस्प है. ट्राली-रिक्शा चलाकर परिवार चलाने वाले मंगला केवट पीएम मोदी से बहुत प्रभावित हैं. अपने खर्च पर ही राजघाट पुल व उसके पास गंगा के किनारे प्रतिदिन स्वच्छता अभियान चलाते हैं. महापुरुषों की प्रतिमा को स्नान कराने के साथ लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरुक करने में भी जुटे रहते हैं. पिछले वर्ष उन्होंने रिक्शा-ट्राली चलाकर PM मोदी से मिलने नई दिल्ली जाने के लिए जिला अधिकारी से अनुमति मांगने पहुंचे थे. पिछले साल ही जब BJP की सदस्यता अभियान की शुरुआत करने बनारस में खुद PM मोदी आए थे तो उन्होंने अपने हाथ से मंगल को BJP की सदस्यता दिलाई थी. इसके बाद से मंगला केवट का उत्साह चरम पर है और वह लगातार स्वच्छता अभियान चलाने में जुटे हैं. उन्होंने पुल के पास अपने पैसे से डस्टबिन भी लगवाईं हैं.