UP: 16 फरवरी को काशी आएंगे पीएम नरेंद्र मोदी, वीरशैव महाकुंभ में होंगे शामिल

महाशिवरात्रि तक चलने वाले गुरूकुल शताब्दी वर्ष समारोह की शुरूआत मक्रर संक्रान्ति से हो गई है.

UP: 16 फरवरी को काशी आएंगे पीएम नरेंद्र मोदी, वीरशैव महाकुंभ में होंगे शामिल
प्रधानमंत्री 19 भाषाओं में अनुवादित सिद्धान्त शिखामणि ग्रन्थ और मोबाइल एप का लोकार्पण करेंगे.

नवीन पांडेय/वाराणसी: जंगमबाड़ी मठ में आयोजित 38 दिवसीय जगद्गुरू विश्वाराध्य गुरूकुल शताब्दी वर्ष और वीरशैव महाकुंभ में 16 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) शामिल होंगे. इस अवसर पर प्रधानमंत्री 19 भाषाओं में अनुवादित सिद्धान्त शिखामणि ग्रन्थ और मोबाइल एप का लोकार्पण करेंगे. महाशिवरात्रि तक चलने वाले गुरूकुल शताब्दी वर्ष समारोह की शुरूआत मक्रर संक्रान्ति से हो गई है.

पत्रकारवार्ता के दौरान मठ के पीठाधीश्वर डॉ. चंद्रशेखर शिवाचार्य महास्वामी ने ये जानकारी देने के साथ बताया कि प्रधानमंत्री की ओर से कार्यक्रम में आने की स्वीकृति मिल गई है. शताब्दी वर्ष और वीर शैव महाकुम्भ की शुरूआत गंगा स्नान और विविध धार्मिक आयोजनों से होगी. कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि उज्जयिनी जगद्गुरू सिद्धलिंगराजदेशिकेंद्र शिवाचार्य महास्वामी भी शामिल होंगे. पीठाधीश्वर ने बताया दूसरे दिन आंध्र प्रदेश, तेलंगाना के मठों के प्राचीन विद्यार्थियों के स्मरणोत्सव का आयोजन किया जाएगा.

उन्होंने बताया कि गुरूकुल शताब्दी वर्ष में 18 जनवरी को प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल होंगे. मुख्यमंत्री काशी विश्वाराध्य गुरूकुलम नामक पुस्तक का विमोचन करेंगे. महाकुंभ में कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा, रेल राज्यमंत्री सुरेश अंगड़ी, संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी सहित कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश सरकार के कई मंत्री भी शामिल होंगे.

वहीं जंगमबाड़ी मठ के पीठाधीश्वर ने बताया गुरूकुल शताब्दी वर्ष कार्यक्रम में दुर्लभ ग्रंथों का प्रकाशन, व्याख्यान, ज्ञान परायण, पंचपीठों के जगदगुरूओं के आर्शीवचन, अमृत महोत्सव, वज्र महोत्सव, षष्ठयब्दि महोत्सव, पूर्व महास्वामियों, स्वामियों के गुरूकुल कालीन विद्यार्थियों का विद्या स्मरणोत्सव, महास्वामियों का पालकी महोत्सव, विश्वाराध्य विश्वभारती पुरस्कार, कोडिमठ संस्कृत साहित्य पुरस्कार, प्र.व्रजवल्लभ द्विवेदी पुरस्कार आदि पाम्परिक आयोजन किया जाएगा.