औरैया सड़क हादसे पर सियासत, कांग्रेस नेता ने मजदूरों की मौत को बताया सामूहिक हत्या

मीडिया से चर्चा के दौरान जितिन प्रसाद ने बीजेपी को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है. लेकिन सरकार वाहवाही लूट रही है.  

औरैया सड़क हादसे पर सियासत, कांग्रेस नेता ने मजदूरों की मौत को बताया सामूहिक हत्या
फाइल फोटो

शिवकुमार/शाहजहांपुर: उत्तर प्रदेश के औरैया में हुए सड़क हादसे पर अब सियासत शुरू हो गई है. कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद ने योगी सरकार की व्यवस्थाओं पर सवाल उठाते हुए औरैया हादसे में हुई 25 मजदूरों की मौतों को सामूहिक हत्या करार दिया है.

साथ ही अमेठी में हुई भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष की हत्या पर जितिन प्रसाद ने कहा कि उत्तर प्रदेश में एक जाति विशेष को निशाना बनाकर उनकी हत्या की जा रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है. लॉकडाउन में लोगों को न्याय नहीं मिल रहा है.

ये भी पढ़ें: प्रवासी मजदूरों पर यूपी के राज्यमंत्री चौधरी उदयभान सिंह का विवादित बयान, अपराधियों से की मजदूरों की तुलना

 

वाहवाही लूटने में जुटी सरकार: जितिन प्रसाद
रविवार को मीडिया से चर्चा के दौरान जितिन प्रसाद ने बीजेपी को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है. लेकिन सरकार वाहवाही लूट रही है.

जितिन प्रसाद के मुताबिक केंद्र सरकार की ओर से दिया गया आर्थिक पैकेज सिर्फ बड़े लोगों के लिए है. 20 लाख करोड़ का आर्थिक पैकेज हवा हवाई है और सिर्फ खोखली घोषणाएं हैं. उन्होंने कहा कि जमीन पर चलने वाले लोग सिर्फ लाठियां खा रहे हैं. मजदूर बेचारा पैदल चल रहा है. सरकार ने कोरोना को लेकर पब्लिक को गुमराह किया है.

जितिन प्रसाद ने कहा कि देश संकट से गुजर रहा है, सभी कोरोना से जंग में साथ खड़े हैं, लेकिन सरकार इस बहाने झूठी वाहवाही लूटने की कोशिश कर रही है क्योंकि जमीनी हकीकत कुछ और है.