close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उत्तराखंड में आज से प्रदूषण फैलाना पड़ेगा महंगा, नियम तोड़ने पर भरना होगा इतना जुर्माना

प्रदेश सरकार ने पिछले महीने मोटरयान अधिनियम के तहत विभिन्न अपराधों के मामले में कंपाउंडिंग शुल्क संशोधित कर लागू किया था, लेकिन प्रदूषण जांच और चाइल्ड सीट बेल्ट के मामले में लोगों को एक महीने की रियायत दे दी थी, जो अब खत्म हो चुकी है.

उत्तराखंड में आज से प्रदूषण फैलाना पड़ेगा महंगा, नियम तोड़ने पर भरना होगा इतना जुर्माना
31 अक्टूबर को प्रदेश सरकार छूट की मियाद खत्म हो गई है.

देहरादून: उत्तराखंड (Uttarakhand) में आज (01 नवंबर) से प्रदूषण (Pollution) फैलाने वाले वाहनों पर मोटा जुर्माना (Fine) लगेगा, जो वाहन प्रदूषण की जांच नहीं कराएंगे. उनसे नई दरों पर ढाई हजार रुपये कंपाउंडिंग शुल्क वसूला जाएगा. साथ ही अब कार में बच्चों को भी सीट बेल्ट लगानी होगी नहीं तो एक हजार रुपये का फाइन लगाया जाएगा. इसके साथ ही आज से प्रदेश में संसोधन हुए मोटरयान अधिनियम की भी शुरुआत हो जाएगी.

दरअसल, 31 अक्टूबर को प्रदेश सरकार छूट की मियाद खत्म हो गई थी. परिवहन विभाग ने 31 अक्टूबर तक प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों से नई दरों के हिसाब से जुर्माना न वसूलने का फैसला किया था.

प्रदेश सरकार ने पिछले महीने मोटरयान अधिनियम के तहत विभिन्न अपराधों के मामले में कंपाउंडिंग शुल्क संशोधित कर लागू किया था, लेकिन प्रदूषण जांच और चाइल्ड सीट बेल्ट के मामले में लोगों को एक महीने की रियायत दे दी थी, जो अब खत्म हो चुकी है.

लाइव टीवी देखें

नियम तोड़ना पड़ेगा जेब पर भारी
- ध्वनि और वायु प्रदूषण के अपराध में पहली बार पकड़े जाने पर 2500 रुपये कंपाउंडिंग शुल्क वसूला जाएगा.
- दूसरी और उसके बाद पकड़े जाने पर शुल्क दर पांच हजार रुपये वसूला जाएगा.
- चाइल्ड सीट बेल्ट के अपराध में परिवहन विभाग 1000 रुपये कंपाउंडिंग शुल्क वसूलेगा.