बच्चा चोरी गैंग का भंडाफोड़, पुलिस ने 20 दिन की अगवा बच्ची को मां से वापस मिलाया

प्रयागराज पुलिस ने बच्चा चोरी करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है. दरअसल, पुलिस ने बीते 24 नवंबर को रेलवे स्टेशन से गायब हुई 20 गिन की नवजात को ढूंढ लिया है और साथ ही 6 आरोपियों को भी पकड़ा है.

बच्चा चोरी गैंग का भंडाफोड़, पुलिस ने 20 दिन की अगवा बच्ची को मां से वापस मिलाया
सांकेतिक तस्वीर.

मोहम्मद गुफरान/प्रयागराज: प्रयागराज पुलिस ने बच्चा चोरी करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है. दरअसल, पुलिस ने बीते 24 नवंबर को रेलवे स्टेशन से गायब हुई 20 गिन की नवजात को ढूंढ लिया है और साथ ही 6 आरोपियों को भी पकड़ा है. गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं. 

ये भी पढ़ें: फर्ज़ी कंपनी बनाकर लगाया 500 करोड़ चूना, अब एसटीएफ ने दो को दबोचा

बच्चे चोरी कर बेच देता था यह गिरोह
पुलिस के मुताबिक यह गैंग पहले भी बच्चे चोरी कर बेचने का काम कर चुका है. पुलिस अब जांच में जुटी है. अब आरोपियों से कड़ी पूछताछ कर के पहले हुई घटनाओं का भी खुलासा किया जाएगा.

क्या था मामला? 
वारदात 24 नवंबर करीब रात 8 बजे की है. रेलवे स्टेशन के पास रहने वाली नेहा नाम की महिला की महज 20 दिन की बच्ची को गिरोह ने किडनैप कर लिया था. इसकी जानकारी जब पुलिस को दी गई तो पुलिस ने तुरंत ही जांच शुरू कर दी. पुलसि ने पूरी कार्रवाई कर घटना का खुलासा करते हुए 6 आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया और बच्ची को सकुशल मां को सौंप दिया गया. पुलसि के मुताबिक इस गैंग ने बच्ची को 40 हजार रुपए में सरिता कनौजिया नाम की महिला को बेच दिया था. 

ये भी पढ़ें: जांच में खुला भेद, सर्जन ने ऑपरेशन के दौरान मरीज के पेट में छोड़ा सर्जिकल ब्लेड, दर्ज होगा केस 
 
सरिता कनौजिया ने क्यों खरीदा था बच्चा?
एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह ने जानकारी दी है कि सरिता कनौजिया नाम की महिला की शादी को 8 साल हो गए थे, लेकिन कोई बच्चा नहीं था. उसने पति को बता कर रखा था कि वह प्रेग्नेंट है और मायके में रहती थी. इसी बीच 24 नवंबर को बेटी पैदा होने की झूठी जानकारी उसने अपने पति को दे दी. इसके बाद सरिता की मां और भाई ने अन्नू नाम की महिला से मुलाकात की और अंकित, पूजा और आफरीन को इस काम के लिए लगाया. इन लोगों ने योजना बना कर रेलवे स्टेशन के पास से 20 दिन की नवजात को किडनैप कर लिया, जिसके लिए उन्हें 40 हजार रुपए मिले. पुलिस के अनुसार इस गैंग के मेम्बर्स पहले भी बच्चों की खरीद फरोख्त की घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं. हालांकि, इन्होंने बच्चों को कहां से अगवा किया और किसके हाथों बेचा, इसकी जानकारी अभी नहीं मिली है, लेकिन पुलिस लगातार जांच में जुटी है.

WATCH LIVE TV