प्रयागराज: खाने के विवाद को लेकर युवक ने की छोटे भाई की हत्या, खुद ट्रेन के आगे कूदकर दी जान, परिजन बोले मर्डर हुआ

एसएसपी अभिषेक दीक्षित का कहना है कि दो भाइयों की हत्या की सूचना पुलिस को मिली थी. यहां पर पुलिस के पहुंचने पर प्रथम दृष्टया जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक पहले बड़े भाई ने छोटे भाई की हत्या की, उसके बाद खुद रेलवे ट्रैक पर जाकर आत्महत्या की है.

प्रयागराज: खाने के विवाद को लेकर युवक ने की छोटे भाई की हत्या, खुद ट्रेन के आगे कूदकर दी जान, परिजन बोले मर्डर हुआ
रेलवे ट्रैक पर जांच करने पहुंची प्रयागराज पुलिस.

मो. गुफरान/प्रयागराज: उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में डबल मर्डर का मामला सामने आया है. दो सगे भाईयों की लाश मिली है, मामला धूमनगंज कोतवाली क्षेत्र का है. सूचना पर घटनास्थल पहुंची पुलिस को शुरुआती जांच पड़ताल में पता चला है कि दोनों भाइयों के बीच शनिवार शाम किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था. पुलिस के मुताबिक विवाद के बाद दोनों भाइयों में बीती रात मारपीट भी हुई, जिसमें बड़े भाई ने छोटे भाई को ईंट-पत्थरों से पीटकर मौत के घाट उतार दिया और खुद रेलवे ट्रैक पर जाकर आत्महत्या कर ली. एसपी सिटी दिनेश सिंह का कहना है कि परिवार वालों को घटना की जानकारी रात में ही हो गई थी, लेकिन उन्होंने जानकारी रविवार सुबह दी.

ISIS आतंकी अबू यूसुफ की बहन बोली- भाई हमेशा ईयरफोन लगाकर कुछ सुनते रहते थे, सऊदी में जेल में भी रहे

पुलिस के बयान पर परिजनों ने जताई आपत्ति
हालांकि मृतक भाइयों के परिजन पुलिस के बयान पर सवाल उठा रहे हैं और दोनों के हत्या की आशंका जताई है. फिलहाल पुलिस अभी घटना की मुख्य वजह पता करने में जुटी हुई है. एसएसपी अभिषेक दीक्षित का कहना है कि दो भाइयों की हत्या की सूचना पुलिस को मिली थी. यहां पर पुलिस के पहुंचने पर प्रथम दृष्टया जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक पहले बड़े भाई ने छोटे भाई की हत्या की, उसके बाद खुद रेलवे ट्रैक पर जाकर आत्महत्या की है. फिलहाल कई बिंदुओं पर घटना की जांच की जा रही है. घटना से जुड़े साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं. जांच पूरी होने पर ही घटना की असल वजह पता चल पाएगी.

बलरामपुर: ISIS आतंकी अबू यूसुफ के घर से मिले 2 मानव बम जैकेट, विस्फोटक और भड़काऊ साहित्य

खाने को लेकर दोनों भाइयों में हुआ था विवाद
शहर के धूमनगंज कोतवाली क्षेत्र में बमरौली के निकट पनतरवा गांव में रहने वाले रमेश का परिवार बेहद गरीब है. उसके बेटे छोटू (18 साल) और जितेंद्र (25) ट्रक में बालू लादने का काम करते थे. उनके बीच अक्सर किसी न किसी बात को लेकर झगड़ा होता रहता था. पुलिस के मुताबिक शनिवार की रात भी अंडा करी खाने को लेकर उनके बीच विवाद हुआ. देखते ही देखते दोनों में मारपीट होने लगी. इस पर छाेटू ने लोहे की रॉड से बड़े भाई जितेंद्र के सिर पर वार कर दिया. जख्मी होने पर वह जितेंद्र को छोड़कर घर से भाग निकला. कुछ घंटे बाद रमेश की मौत हो गई. उसके कुछ देर बाद छाेटू ने बमरौली के निकट ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली.

WATCH LIVE TV