close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

...जब सोनभद्र घटना के पीड़ित परिवारों से मिलकर झलके प्रियंका गांधी के आंसू, देखें VIDEO

सोनभद्र नरसंहार मामले पर पीड़ितों से बात करने के बाद उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवारों को कम से कम 25-25 लाख का अनुदान मिलना चाहिए.    

...जब सोनभद्र घटना के पीड़ित परिवारों से मिलकर झलके प्रियंका गांधी के आंसू, देखें VIDEO
इस मुलाकात के बाद उन्होंने अपना धरना खत्म कर दिया है.

नई दिल्ली: 24 घंटे के धरने के बाद आखिरकार मिर्जापुर जिला प्रशासन को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की जिद के आगे झुकना पड़ा. मिर्जापुर के चुनार गेस्ट हाउस के बगीचे में सोनभद्र नरसंहार पीड़ित परिवार की महिलाओं ने प्रियंका गांधी से मुलाकात की. पीड़ित परिवार की महिलाओं ने प्रियंका गांधी को देखते ही रोना शुरू कर दिया. महिलाओं का दुख सुनते ही प्रियंका गांधी भी भावुक हो गईं और उनकी आंखों से भी आंसू झलक गए. इस मुलाकात के साथ उन्होंने अपना धरना खत्म कर दिया है. 

कांग्रेस पार्टी आपके साथ है
प्रियंका गांधी ने पीड़ित परिवार की महिलाओं को दिलासा दिया और उन्हें पानी पीने के लिए कहा. उन्होंने पीड़ितों से वादा किया कि कांग्रेस पार्टी उनके साथ है. उन्होंने उनसे कहा कि वह तब तक हार नहीं मानेंगी, जब तक उन लोगों के साथ इंसाफ नहीं हो जाता.  

 

 

10 लाख रुपये की आर्थिक मदद देगी कांग्रेस
उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी भी इन परिवारों को 10 लाख रुपये की आर्थिक मदद देगी. इसके साथ उन्होंने वादा किया कि जिस तरह से भी इन्हें सहायता की जरूरत होंगी कांग्रेस पार्टी इनके साथ है.

योगी सरकार पर साधा निशाना
प्रियंका गांधी वाड्रा ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इन परिवारों की अब पूरी जिम्मेदारी योगी सरकार पर है. इन परिवारों के हर सदस्य की सुरक्षा होनी चाहिए. 

लाइव टीवी देखें

पीड़ितों में को मिलने चाहिए 25 लाख
सोनभद्र नरसंहार मामले पर पीड़ितों से बात करने के बाद उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवारों को कम से कम 25-25 लाख का अनुदान मिलना चाहिए. उन्होंने कहा, पश्तो से जमीन इनकी है तो इन्हें मालिकाना हक भी मिलना चाहिए. कांग्रेस महासचिव ने कहा कि जो इन पर केस है उसे हटाया जाना चाहिए, ये लोग लड़ाई लड़ रहे है. इसलिए इनकी सुरक्षा जरूरी है. 

शुक्रवार से धरने पर बैठीं थीं प्रियंका
प्रियंका गांधी वाड्रा शुक्रवार को पीड़ितों से मिलने को सोनभद्र के लिए निकली थीं, लेकिन पुलिस ने कानून-व्यवस्था का हवाला देते हुए उन्हें वहां हिरासत में ले लिया. प्रियंका गांधी ने कहा, 'मैं कानून का उल्लंघन नहीं करना चाहती. मैंने प्रशासन को कहा है कि अगर सोनभद्र में धारा 144 लागू है तो वो किसी और जगह मुझे मिलवा सकते हैं. वह पीड़ित परिवारों से मिर्जापुर या वाराणसी में भी मिल सकती हैं. एक बार पीड़ितों से मिल लूं फिर चली जाऊंगी.