UP: उच्च शिक्षा परिषद के चेयरमैन बने प्रो. गिरीश चंद्र त्रिपाठी, तीन साल से खाली पड़ा था पद

उत्तर प्रदेश शासन के प्रमुख सचिव आर. रमेश कुमार की ओर से इस संबंध में आदेश जारी किया गया है.

UP: उच्च शिक्षा परिषद के चेयरमैन बने प्रो. गिरीश चंद्र त्रिपाठी, तीन साल से खाली पड़ा था पद
उच्च शिक्षा परिषद के चेयरमैन बने प्रो. गिरीश त्रिपाठी

बनारस: बीएचयू के पूर्व कुलपति प्रोफेसर गिरीश चंद्र त्रिपाठी को राज्य उच्च शिक्षा परिषद का अध्यक्ष बनाया गया है. मौजूदा समय में वे इलाहाबाद केन्द्रीय विश्वविद्यालय के अर्थशास्त्र विभाग के प्रोफेसर के रूप में कार्यरत हैं. तीन साल बाद उच्च शिक्षा परिषद के अध्यक्ष के रूप में उनकी नियुक्ति की गई है. उत्तर प्रदेश शासन के प्रमुख सचिव आर. रमेश कुमार की ओर से इस संबंध में आदेश जारी किया गया है.

गिरीश चंद्र त्रिपाठी को देश के प्रतिष्ठित अर्थशास्त्रियों के रूप में जाना जाता है. इलाहाबाद केन्द्रीय विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र, संस्कृत और अंग्रेजी विषयों में शिक्षा लेने वाले गिरीश चंद्र त्रिपाठी 1982 में इलाहाबाद विवि के लेक्चरर बनाए गए थे. इसके बाद 1999 में उन्हें अर्थशास्त्र विभाग का प्रोफेसर बनाया गया. 2014 में गिरीश चंद्र त्रिपाठी बनारस हिंदू विश्विद्यालय के कुलपति बनाए गए थे, जहां कार्यकाल पूरा होने के बाद साल 2017 में उन्होंने फिर से इलाहाबाद केन्द्रीय विश्वविद्यालय का कामकाज संभाल लिया था.

आपको बता दें कि गिरीश चंद्र त्रिपाठी प्रदेश के कई विश्वविद्यालयों की कार्य परिषद और शैक्षणिक संस्थाओं के सदस्य के रूप में भी काम कर रहे हैं. इसके अलावा वह पूर्व में आईआईटी बीएचयू के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के चेयरमैन भी रह चुके हैं.

प्रो. गिरीश चन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि उनकी कोशिश उच्च शिक्षा के गिरते स्तर को और बेहतर बनाने की होगी. उन्होंने कहा कि पिछले कुछ सालों के बीच उच्च शिक्षा में तमाम अड़चनें जरूर आई हैं, लेकिन अब सामंजस्य बैठाकर इस क्षेत्र में काम किया जाएगा.