क्या 'शाह' की वजह से 'मात' खा गए निर्दलीय उम्मीदवार प्रकाश बजाज

सपा के समर्थन से निर्दलीय पर्चा भरने वाले प्रकाश बजाज ने केंद्रीय चुनाव आयोग में नामांकन खारिज होने की शिकायत दर्ज कराई. उन्होंने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि उनके साथ नाइंसाफी हुई है.

क्या 'शाह' की वजह से 'मात' खा गए  निर्दलीय उम्मीदवार प्रकाश बजाज
फाइल फोटो.

लखनऊ: सपा के समर्थन से निर्दलीय पर्चा भरने वाले प्रकाश बजाज ने केंद्रीय चुनाव आयोग में नामांकन खारिज होने की शिकायत दर्ज कराई. उन्होंने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि उनके साथ नाइंसाफी हुई है. नामांकन पत्र का दूसरा सेट गायब कर दिया गया. इसका पास प्रमाण भी है. पता नहीं किस दबाव में मेरा नामांकन खारिज हुआ.

आखिर क्यों रद्द हुआ था नामांकन
प्रकाश बजाज के प्रस्तावक में एक विधायक का नाम नवाब 'जान' के बजाय नवाब 'शाह' लिख गया था. जिस पर बसपा ने आपत्ति दर्ज कराई और उनका पर्चा रद्द कर दिया गया था.

यह भी देखें - VIDEO: जब 'पानी' बना गया सरेराह पिटाई की वजह, महिलाओं को बेरहमी से पीटा

पर्चा रद्द होने के बाद  कहा था कि जाएंगे कोर्ट
प्रकाश बजाज ने पर्चा रद्द होने के बाद कहा था कि बसपा व भाजपा ने उनके नामांकन पत्र में जो आपत्तियां की थीं उनका लिखित जवाब आरओ को दे दिया था. प्रस्तावक में एक विधायक का नाम नवाब जान के बजाय नवाब शाह लिख गया था. यह लिपिकीय त्रुटि थी, जबकि विधायक के हस्ताक्षर ठीक थे. इस मांग को लेकर वो कोर्ट जाएंगे.

यह भी पढ़ें - जब मंच से दिखाया सांसद ने ''स्वर्ग जाने का रास्ता''

समर्थन के लिए अखिलेश यादव को दिया धन्यवाद
गुरुवार को प्रकाश बजाज ने पिता प्रदीप बजाज के साथ सपा मुख्यालय में अखिलेश यादव से मुलाकात की थी. उन्होंने कहा कि अखिलेश ने उन्हें नाइंसाफी के खिलाफ कानूनी लड़ाई में साथ देने का भरोसा दिया था. साथ ही नामांकन में मदद करने के लिए धन्यवाद देने आए थे.

WATCH LIVE TV